अब PUBG समेत 275 चीनी ऐप बैन करने की भारत सरकार की तैयारी

0
178

नई दिल्ली। भारत सरकार की अब PUBG समेत 275 चीनी ऐप बैन करने की तैयारी शुरू हो चुकी है। सरकार ने चीन के अन्य 275 ऐप की लिस्ट (275 chinese app may ban) बना ली है। इनमें गेमिंग ऐप पबजी (PUBG may be banned) भी है। एक अनुमान के मुताबिक भारत में चीनी इंटरनेट कंपनियों के करीब 30 करोड़ यूनीक यूजर्स हैं। लिस्ट बनाकर सरकार चेक कर रही है कि ये ऐप किसी भी तरह से राष्ट्रीय सुरक्षा या लोगों की निजता के लिए खतरे का सबब तो नहीं बन रहे हैं।

अगर कोई अनियमितता सामने आती है तो हो सकता है कि चीन के बैन ऐप्स की लिस्ट और भी लंबी हो जाए। ये सब हो रहा है चीन और भारत के बीच तनाव (India China standoff in ladakh) के चलते। इस तनाव की वजह से दोनों देशों की सेनाओं के बीच एक खूनी झड़प भी हो चुकी है, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। बता दें कि तब से अब तक भारत के लोगों में चीन को लेकर एक गुस्सा है।

सरकार ने जो नई लिस्ट बनाई है, उसमें टेंसेंट कंपनी का लोकप्रिय गेम पबजी भी शामिल है। इसके अलावा शाओमी का जिली, ई-कॉमर्स दिग्गज अलीबाबा का अलीएक्सप्रेस और टिकटॉक के मालिकाना हक वाली कंपनी बाइटडांस के रेसो और यूलाइक ऐप भी शामिल हैं। इस डेवलपमेंट से जुड़े एक शख्स ने बताया कि सरकार इन सभी 275 ऐप को, या इनमें से कुछ को बैन कर सकती है। हालांकि, अगर कोई अनियमितता नहीं पाई जाती है तो कोई भी ऐप बैन नहीं होगा।

गृह मंत्रालय ने अभी तक इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। हालांकि, माले से जुड़े एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि चीन के ऐप्स का लगातार रिव्यू जारी है और ये भी पता लगाने की कोशिश है कि उन्हें फंडिंग कहां से हो रही है। अधिकारी के अनुसार कुछ ऐप्स से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पाया गया है तो कुछ ऐप डेटा शेयरिंग और निजता के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं।

सरकार लिख रही ऐप्स के लिए ‘कोड’
भारत सरकार अब ऐप्स के लिए नियम-कायदे बना रही है, जिन पर खरा नहीं उतरने वाले ऐप्स के बैन होने का खतरा रहेगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ये सरकार का बड़ा प्लान है, ताकि साइबर सिक्योरिटी को मजबूत बनाया जा सके और भारतीय नागरिकों के डेटा को सुरक्षा प्रदान की जा सके। इन नियमों और गाइडलाइन्स में ये साफ-साफ लिखा होगा कि किसी ऐप को क्या करने की इजाजत नहीं है।

टिकटॉक बैन से बढ़ गई है जुकरबर्ग की बेचैनी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत की ओर से टिकटॉक के बैन होने के बाद फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की बेचैनी काफी बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि उन्होने टिकटॉक के बैन होने पर अपने कर्मचारियों से चिंता जताते हुए कहा है कि अगर भारत सरकार 20 करोड़ यूजर वाले टिकटॉक के बिना कोई बड़ी वजह बताए बैन कर सकता है, तो फेसबुक को भी भारत में कभी भी बैन किया जा सकता है।