सत्ता पक्ष के विधायक ने की जीएसटी वापस लेने की मांग

0
52

कोटा| विधायक भवानी सिंह राजावत जीएसटी का विरोध कर एक बार फिर विवादों में घिर गए । वे हमेशा विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं।  इस बार उन्होने सत्ता पक्ष के होते हुए सरकार से जीएसटी वापस लेने की मांग कर डाली।

कोटा के विकास कार्य ठप होने पर सरकारी अधिकारियों पर भड़के विधायक

उन्होंने 18 प्रतिशत जीएसटी लागू होने पर शहर के विकास कार्य ठप होने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि सरकार इसे वापस ले या मध्यप्रदेश की तर्ज पर यहां पर विकास कार्य करवाए जाएं।

उन्होंने कहा कि इसके कारण यूआईटी, निगम पीडब्ल्यूडी में चल रहे सभी विकास कार्य ठप हो गए हैं।

ठेकेदारों ने काम को अधूरा छोड़ दिया है, जिससे सभी प्रोजेक्ट ठप हो गए हैं। वे बुधवार को यूआईटी के सभागार में विभाग के अधिकारियों की बैठक में अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्यों को लेकर चर्चा कर रहे थे।

पारदर्शी हो कार्यशैली
राजावत ने कहा कि न्यास की कार्यशैली पारदर्शी होनी चाहिए, संतुलित विकास की होनी चाहिए, नगर निगम सीमा में आये गांवों में मुक्तिधामों का विस्तार करवाना आदि प्राथमिकता होनी चाहिए।

बैठक में अध्यक्ष आरके मेहता, उपमहापौर सुनीता व्यास, भाजपा जिला उपाध्यक्ष राकेश मिश्रा, नगर विकास न्यास सचिव आनंदीलाल वैष्णव, उपसचिव कीर्ति राठौड़, दीप्ति मीणा, कृष्णा शुक्ला, अतिरिक्त मुख्य अभियंता एस के सिंघल, अधिशाषी अभियंता पी दुबे भी उपस्थित थे।