धारीवाल ने दिलाया व्यापारियों एवं उद्यमियों को समस्याओं के निदान का भरोसा

0
255

कोटा। स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कोटा व्यापार महासंघ को भरोसा दिलाया कि कोरोना वायरस के कारण लॉक-डाउन के चलते व्यापारियों एवं उद्यमियों के सामने जो समस्यायें आ रही हैं, उनका राज्य सरकार के स्तर पर यथाशीघ्र निराकरण करवाने का प्रयास किया जायेगा।

वे गुरुवार को झालावाड़ रोड स्थित पुरूषार्थ भवन में कोटा व्यापार महासंघ की ओर से आयोजित बैठक में उपस्थित व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण विश्वभर में समस्या उत्पन्न हुई है। जब तक इसका टीका इजाद नहीं किया जाता। हमें इसके बीच प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पुन:जीवनचर्या को पटरी पर लाना होगा।

उन्होंने व्यापारिक संगठनों को आव्हान किया कि वे केवल सरकार की मदद पर निर्भर नहीं रहे और ना ही किसी तरह की हताशा आने दें। सुदृढ़ता से देश की मजबूती के लिए नवसंचार के साथ कार्य करें। जिससे आत्मनिर्भर हो सकें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के स्तर पर निराकरण की जा सकने वाली समस्याओं को समय पर निराकरण किया जाएगा। जिससे आधारभूत विकास को गति दी जा सके। लॉक-डाउन के कारण प्रत्येक वर्ग प्रभावित हुआ है किसान, व्यापारी, श्रमिक, उद्यमी के कार्य एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। प्रदेश के विकास एवं आम नागरिकों को राहत के लिए सभी का समन्वित प्रयास आवश्यक है।

कोटा में कोचिंग का पुन: स्थापित होना आवश्यक
उन्होंने कहा कि कोटा में कोचिंग का पुन: स्थापित होना आवश्यक है। इससे बड़ी संख्या में लोग जुड़े हुए हैं। लाखों लोगों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिला हुआ है। हमें मिलकर इस तरह के प्रयास करने होंगे कि कोचिंग विद्यार्थियों के अभिभावकों को सुरक्षा व कोरोना से बचाव का विश्वास हो सके। उन्होंने हॉस्टलों में सोशल डिस्टेसिंग की पालना करने, कोचिंग एरिया को एक विशेष जोन में बनाकर वहां आम नागरिकों की अनाश्यक आवाजाही बन्द करने व पढाई का नया मॉडल तैयार करने का सुझाव दिया।

उन्होंने कहा कि बिजली के बिलों की समस्या का निराकरण करने के लिए राज्य स्तर पर अध्ययन किया जा रहा है। जिससे सभी नागरिकों की समस्या दूर की जा सके। उन्होंने निर्माण उद्योग, होटल, खनन, निर्माण उद्योग, कोटा स्टोन, रीयल स्टेट, ऑटोमोबाइल तथा विभिन्न व्यापारिक संगठनों को कोरोना के प्रोटोकॉल की पालना करते हुए अपना कार्य पूरी गति के साथ शुरू करने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि जीएसटी व केन्द्र सरकार के स्तर के मामलों को पूरी पैरवी के साथ उठाया जाएगा। जिससे समस्या का निराकरण कराया जा सके।

इन्होंने बताई समस्याएं
इस अवसर पर वरिष्ठ उद्यमी गोविन्दराम मित्तल, व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी, श्री सर्राफा बोर्ड कोटा के अध्यक्ष सुरेंद्र गोयल विचित्र, कोचिंग संस्थान के प्रतिनिधि नवीन माहेश्वरी, इलेक्ट्रोनिक्स एसोसिएशन के कमलदीपसिंह, दी एसएसआई एसोसिएशन के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, सचिव केके अग्रवाल, होटल एसोसिएशन के राजकुमार माहेश्वरी, रीयल स्टेट के दीपक राजवंशी, सीड्स एसोसिएशन के महेन्द्र जैन ऑटोमोबाइल एसोसिएशन के प्रेम भाटिया, एक्सपोर्ट एसोसिएशन के अनिल मूंदडा सहित सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने समस्याओं की जानकारी देकर लॉक-डाउन की समस्याओं के निराकरण के लिए सुझाव दिए। इस मौके पर यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष एवं शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, हाड़ौती विकास मोर्चा के राजेन्द्र सांखला भी इसमें मौजूद थे ।

बिजली बिलों में फिक्स चार्ज और यूडी टैक्स माफ़ नहीं होगा
व्यापार महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने यूडी टैक्स माफ करने की मांग उठाई तो मंत्री बोले कि निगम यूडी टैक्स के अलावा कोई टैक्स नहीं लेता है। इसे भी माफ कर देंगे तो विकास कार्य कैसे होंगे। बिजली के बिल तथा फिक्स चार्ज माफ करने की मांग पर उन्होंने कहा कि बिजली कंपनियां पहले ही घाटे में चल रही है, कैसे माफ करेंगे। अंत में कहा विश्वास रखें आपके हित में बात करूंगा।