टीवी पर रामानंद सागर की एक और ‘रामायण’ की वापसी

0
471

नई दिल्ली। रामानंद सागर की ‘रामायण’ के बाद अब टीवी पर उन्हीं के बैनर की एक और ‘रामायण’ दस्तक दे चुकी है। दिलचस्प है कि इसे रामानंद सागर के बेटे आनंद सागर ने बनाया था। रामानंद सागर की ‘रामायण’ ने 33 साल पहले देश और दुनिया में जो पॉप्युलैरिटी और टीआरपी बटोरी थी, वही अब लॉकडाउन में टीवी पर दोबारा प्रसारण के दौरान भी बटोरी। रामानंद सागर के बाद बहुत से लोगों ने ‘रामायण’ बनाई, लेकिन उस जैसी सफल नहीं हो पाईं।

1987 में आई रामानंद सागर की ‘रामायण’ ने तो उसके कलाकारों को ही दुनियाभर में पूजनीय बना दिया था। राम-सीता का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल-दीपिका चिखलिया जहां भी जाते, लोग हाथ जोड़े खड़े हो जाते।

भले ही अन्य कोई ‘रामायण’ रामानंद सागर की ‘रामायण’ को टक्कर नहीं दे पाई, लेकिन एक ‘रामायण’ थी, जो काफी सफल रही थी। इसमें गुरमीत चौधरी और देबीना बनर्जी राम-सीता बने थे। दिलचस्प बात तो यह है कि इस रामायण का निर्माण की सागर आर्ट्स ने किया था। अब यह ‘रामायण’ लॉकडाउन में टीवी पर फिर से टेलिकास्ट की जा रही है। इसकी जानकारी राम का किरदार निभाने वाले ऐक्टर गुरमीत चौधरी ने ट्विटर पर दी।

सागर आर्ट्स की नींव रामानंद सागर ने ही रखी थी और उस बैनर में सागर फैमिली के कई लोग काम करते हैं। रामानंद सागर के बेटे आनंद सागर भी इसी में हैं और गुरमीत-देबीना वाली ‘रामायण’ उन्होंने ही बनाई थी। इसे 2008 में एनडीटीवी इमेजिन पर प्रसारित किया गया था।

इस ‘रामायण’ से गुरमीत और देबीना को भी राम और सीता के रोल में खूब पॉप्युलैरिटी मिली थी और दर्शकों ने भी खूब पसंद किया। लेकिन अब यह रामानंद सागर की ‘रामायण’ को टीआरपी और पॉप्युलैरिटी के मामले में टक्कर दे पाएगी? यह कहना जरा मुश्किल है। वैसे इस नई वाली ‘रामायण’ को दंगल चैनल पर हर शाम 7.30 बजे और हर रोज सुबह 9.30 बजे रिपीट टेलिकास्ट किया जाएगा।