पेटीएम मॉल ने की 10,000 किराना दुकानों के साथ साझेदारी

0
328

नई दिल्ली। पेटीएम मॉल (Paytm Mall) ने 10,000 से ज्यादा किराना स्टोर्स (Kirana Stores), छोटो दुकानों और हाइपरलोकल डिलीवरी के लिए दुकानदारों के साथ साझेदारी करने का ऐलान किया है। कंपनी पिछले कुछ हफ्तों में अपने हाइपरलोकल ऑपरेशंस को बढ़ाने के लिए निवेश कर रही है और अब देशभर के 100 से अधिक शहरों में किराने की जरूरी सामग्री की डिलीवरी करेगी। अगले कुछ हफ्तों में पेटीएम इसे और शहरों तक पहुंचाने की योजना बना रही है।

हाल ही में अमेजन और वॉलमार्ट (Amazon and walmart) के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट (Flipkart) ने भी इसी तरह की योजना की घोषणा की है। वहीं, रिलायंस जि‍यो मार्ट (Reliance Jio Mart) की वाॅट्सऐप के साथ साझेदारी भी इसी दिशा में एक कदम है। अब महामारी के दौरान ई-कॉमर्स फर्मों के बीच बढ़ती दौड़ में पेटीएम मॉल भी शामिल हो रही है।

छोटे दुकानदार डिजीटल लेन-देने में होंगे सक्षम
पेटीएम ने कहा कि हमारा उद्देश्य अपने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से दूर-दूर के इच्छुक ग्राहकों के लिए पड़ोस के ऑफलाइन स्टोर्स को जोड़ना है। कोविड -19 महामारी संकट के छोटे दुकानदारों, परेशान एसएमई व्यवसायों की मदद के लिए कई पहल शुरू की हैं। इससे छोटे दुकानदारों को डिजीटल लेन-देन में मदद मिलेगी। बता दें कि कोरोनावायरस महामारी के दौरान ग्राॅसरी समेत अन्य जरूरी प्रोडक्ट्स की मांग बढ़ गई हैं। वहीं, सोशल डिस्टेंसिंग के चलते लोग बाहर निकले से बच रहे हैं और ऑनलाइन ऑर्डर पर ज्यादा जोर दे रहे हैं। इसके मद्देनजर कंपनी देशभर के छोटे स्टोर को डिजीटल कारोबार करने का मौका देना चाहती है।

इंदौर, अहमदाबाद, एनसीआर समेत कई शहरों में बढ़े आर्डर
पेटीएम के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, श्रीनिवास मोथेई ने कहा कि वे शेयरिंग इन्वेंट्री के साथ-साथ माल की डिलीवरी में आने वाली चुनौतियों को समझने के लिए छोटे विक्रेताओं के पास पहुंच रहे हैं। मौजूदा समय में, पेटीएम मॉल GATI, Ecom Express, Delhivery, Bluedart, FedEx सहित सभी प्रमुख लॉजिस्टिक्स के साथ काम कर रहा है।

कंपनी के अनुसार, टियर- 2 और टियर- 3 शहरों से किराने की आवश्यक वस्तुओं की बिक्री में भारी वृद्धि हुई है क्योंकि 200 से अधिक ऐसे शहर हैं जो पेटीएम मॉल पर सबसे अधिक ऑर्डर कर रहे हैं। इंदौर, अहमदाबाद, एनसीआर, बेंगलुरु, लखनऊ, पुणे, चेन्नई, लुधियाना, बठिंडा सहित सभी शहरों में ऑर्डर बढ़े हैं।