बैंक बचाने के लिए कर्मचरियों और अधिकारियों ने रैली निकाली

0
106

बैंकों का निजीकरण बंद करने और एनपीए का सेवा प्रभार आम ग्राहक पर डालने का विरोध

कोटा। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक बचाओ दिवस के आव्हान पर आज बैंक कर्मी एवं अधिकारियों ने रैली निकाली।

यह रैली भारतीय स्टेट बैंक एरोड्राम चौराहा शाखा से सायं 6 बजे रवाना होकर शॉपिंग सेन्टर, छावनी चौराहा,झालावाड़ रोड,कोटड़ी चौराहा होते हुए सेवन वंडर्स के सामने समाप्त हुई।

रैली में बैंक कर्मी अपनी मांगों संबंधी तख्तियां लिए हुए थे। तथा बैंक राष्ट्रीयकरण जिंदाबाद, बैंकों का निजीकरण बंद करो, बैंकों का विलय बंद करो,कॉर्पोरेट घरानों से डूबत ऋणों की वसूली संबंधी नारे लगा रहे थे।

रैली के समापन पर बैंक कर्मी नेता शरण लाल गुप्ता, अशोक ढल, ललित गुप्ता विपिन चोरायवाल, गजानंद मीणा, मोहम्मद अकरम, पवन अग्रवाल,पदम पाटोदी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए बैंक राष्ट्रीयकरण को बनाये रखने का आव्हान किया।

उन्होंने एनपीए का भार सेवा प्रभार के द्वारा आम ग्राहक पर डालने का विरोध किया। बैंक कर्मी नेता संजीव झा,देवनारायण,पी सी गोयल, डी एस साहू हेमराज सिंह गौड़ , मिर्ज़ा नफीस बेग,रमेश सिंह तथा सुरेश खंडेलवाल भी रैली में शामिल थे । यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के संयोजक पदम पाटोदी ने बताया कि इससे पूर्व बैंक कर्मियों ने आज अपनी मांग संबंधी बैज लगा कर कार्य किया।