विजय माल्या के खिलाफ सबूत, ईडी और सीबीआई की टीम लंदन में

0
48

नई दिल्ली । सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की एक संयुक्त टीम भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ताजा और पुख्ता सबूत जमा कराने के लिए लंदन में है।

यह जानकारी बुधवार को अधिकारियों की ओर से दी गई है। माल्या के खिलाफ जांच कर रही टीम में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, लंदन में यह टीम माल्या के खिलाफ पिछले महीने मुंबई में ईडी द्वारा दायर किए गए 5,500 पेज के आरोपपत्र को भी जमा करेगी।

अधिकारी ने कहा, ‘जांच अधिकारी क्राउन प्रॉसीक्यूशन कार्यालय को ईडी द्वारा दायर की गई चार्जशीट के कॉन्टेंट और सबूतों से अगवत कराएंगे। कुछ अन्य कानूनी मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी।’ बता दें कि क्राउन प्रॉसीक्यूशन कार्यालय माल्या के प्रत्यर्पण के मामले को भारत सरकार की ओर से लड़ रहा है।

अधिकारी ने यह भी कहा कि ईडी के कानूनी सलाहकार माल्या के खिलाफ लगे आरोपों की विस्तार से जानकारी देंगे और चार्जशीट में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के अंतर्गत बताए गए कानूनी बिंदुओं से उन्हें वाकिफ कराएंगे।

साथ ही ईडी फ्रांस, सिंगापुर, मॉरीशस, आयरलैंड, अमेरिका और यूएई जैसे देशों से भी जांच में सहयोग की अपील करेगा। ईडी की ओर से दायर की गई चार्जशीट में 9 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है।

अधिकारी ने बताया कि संयुक्त निदेशक स्तर के ईडी अधिकारी के साथ कानूनी सलाहकार लंदन में ब्रिटिश मध्यस्थों से निपटने में एजेंसी को कानूनी कदम में सहायता करेंगे।

ईडी अधिकारी ने कहा कि आरोप पत्र में इस बात का विवरण है कि कैसे माल्या ने आईडीबीआई बैंक से प्राप्त 900 करोड़ रुपये कर्ज की राशि को भारत के अपने समूह की कंपनियों और कई दूसरे देशों में फर्जी कंपनियों के माध्यम से इस्तेमाल किया।

बता दें कि जांच एजेंसियों की ओर से यह कदम माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर उठाया गया है। यह उनके खिलाफ चल रही जांच का हिस्सा है। भगोड़े विजय माल्या पर बैंकों का 8000 करोड़ रुपये से ज्यादा का कर्ज है। उन्हें भगोड़ा भी घोषित किया जा चुका है।