बैंक कर्मी आज बैंक बचाओ दिवस के रूप में मनाएंगे

0
102

19 जुलाई 1969 को देश के 14 बड़े निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया था।

कोटा।  देश की सभी बैंक कर्मचारी अधिकारी यूनियनों के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने 19 जुलाई को बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक बचाओ दिवस के रूप में मनाने का आव्हान किया है।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस,कोटा के संयोजक पदम पाटोदी ने बताया कि बैंक समय में बैंक अधिकारी एवं कर्मचारी जन विरोधी सुधारों को रोकने, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का निजीकरण न करने, बैंकों का विलय व एकाकीकरण योजनाएं रद्द करने, जानबूझ कर ऋण न चुकाने वालों के विरुद्ध आपराधिक कार्यवाही करने, कार्पोरेट डूबत ऋणों को बट्टे खाते में डालने के बजाय वसूली करने कॉर्पोरेट के डूबत ऋण का बोझ सेवा शुल्क बढ़ा कर ग्राहकों पर न डालने संबंधी मांगो का बैज लगा कर कार्य करेंगे।

उन्होंने बताया कि सायं 5.30 बजे से एक दुपहिया वाहन रैली भारतीय स्टेट बैंक एरोड्राम चौराहा शाखा से प्रारंभ हो कर शॉपिंग सेन्टर, छावनी चौराहा कोटड़ी चौराहा होते हुए सेवन वंडर्स के सामने समाप्त होगी । यूनाइटेड फोरम बैंक यूनियंस के नेताओं अशोक ढल , ललित गुप्ता,पदम पाटोदी, विपिन चोरायवाल, सुरेश खंडेलवाल, सुशील मेहता,मोहम्मद अकरम,सी एल भार्गव, मुकेश वर्मा ने बैंक कर्मियों एवं अधिकारियों से उक्त कार्यक्रमों को सफल बनाने का आव्हान किया है।