बजट में व्यापार एवं उद्योग जगत को राहत दिलाने का लोकसभा अध्यक्ष का वादा

0
230

कोटा। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कोटा व्यापार महासंघ के प्रतिनिधिमण्डल को आश्वस्त किया कि सरकार की पूरी मंशा है कि देश की व्यापारी एवं उद्यमी किसी भी तरह से परेशान ना हों और पूरे देश मेें व्यापार उद्योग का समुचित विकास हो आपके द्वारा बजट के लिये दिये गये सुझावों को मैं वित्त मंत्री तक पंहुचाकर आगामी बजट में व्यापार एवं उद्योग जगत को राहत दिलाने का पूरा प्रयास करूंगा।

इससे पहले कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी के नेतृत्व में महासंघ के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी सदस्यों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से भेट कर वर्तमान में व्यापार उद्योग जगत में चल रही भारी मंदी से उबारने के लिये आयकर, GST एवं सरकारी नीतियों में सरलीकरण आगामी बजट में किये जाने के संदर्भ में वार्ता की।

इस अवसर पर कोटा व्यापार महांसघ के अध्यक्ष जैन एवं महासचिव माहेश्वरी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को आगामी बजट में बजट में GST के नियमों में सरलीकरण करते हुये रिवाईज सिस्टम लागू करने, आयकर की सीमा 5 लाख तक करने, 5-10 लाख तक 10 प्रतिशत एवं 10-25 लाख पर 20 प्रतिशत तक किये जाने का सुझाव दिया। साथ ही बड़े कारपेट पर वर्तमान में 25 प्रतिशत आयकर लिया जाता है जबकि पार्टनशिप एवं प्रोपराईटर फर्माे पर 30 प्रतिशत लिया जा रहा है। उसे भी 25 प्रतिशत ही करने की मांग की गई।

इस दौरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी सहित अन्य पदाधिकारियों एवं कार्यकारिणी सदस्यों का निर्विरोध निर्वाचन पर माल्यार्पण कर स्वागत किया। उन्होने कहा कि व्यापार उद्योग जगत के प्रस्ताव के केन्द्र एवं राज्य सरकारो ने प्राथमिकता से लेते हुये उनकी महत्ता को देखते हुये स्वीकार कर उनको राहत दी है। कई योजनाये तो प्रारम्भ हो चुकी हैं। उन्हे 2-3 वर्षो में अंजाम दे दिया जायेगा।