भारत में पाम तेल आयात में 8.64 फीसदी की कमी

0
116

नयी दिल्ली। भारत के पाम तेल का आयात दिसंबर 2019 में 8.64 प्रतिशत घटकर 7,41,490 टन रह गया। उद्योग संगठन सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (एसईए) ने बृहस्पतिवार को यह जानकाारी दी। भारत ने दिसंबर 2018 में 8,11,700 टन पामतेल का आयात किया था। देश का कुल वनस्पति तेल आयात दिसंबर 2019 में घटकर 11.28 लाख टन रह गया।

यह दिसंबर 2018 में 12.11 लाख टन था। देश के कुल वनस्पति तेल आयात में पाम तेल की हिस्सेदारी 60 फीसदी से अधिक की है। पाम तेल उत्पादों में से, कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात दिसंबर 2019 में घटकर 6,31,824 टन रह गया, जो एक साल पहले 6,70,244 टन था। आरबीडी पामोलिन का आयात घटकर 94,816 टन रह गया, जो पहले 1,30,459 टन था।

जबकि कच्चे पाम कर्नेल तेल (सीपीकेओ) का आयात पहले के 10,997 टन से बढ़कर 14,850 टन हो गया। सॉफ्ट तेलों में, दिसंबर 2019 के दौरान सूरजमुखी तेल का आयात घटकर 1,97,842 टन रह गया, जो साल भर पहले 2,35,824 टन था। हालांकि, इस दौरान सोयाबीन तेल का आयात 85,404 टन से बढ़कर 1,68,048 टन हो गया।