प्याज की अब कोई कमी नहीं, विदेश से 2500 टन पहुंचा भारत, 3000 टन रास्ते में

0
126

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार को प्याज की कीमतें प्रति किलो 80 से 100 रुपए तक पहुंचने के एक दिन बाद ही राहत मिलने की उम्मीद जागी है। केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने बताया था कि प्याज आपूर्ति जल्द ही विदेश से आरंभ होने वाली है, जिसके बाद कीमतें नियंत्रण में रहेंगी। इस आयात की पहली खेप भारत पहुंच गई है।

कृषि मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि 2,500 टन पहले भारतीय बंदरगाहों पर 80 कंटेनर में पहुंच चुका है, जिसमें से 70 कंटेनर मिस्र से और 10 कंटेनकर नीदरलैंड से हैं। अन्य 3,000 टन 100 कंटेनरों से हाई सी के जरिए आ रहे हैं, जिसे भारतीय बंदरगाहों की तरफ लाया जा रहा है।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने घोषणा की थी कि सरकार प्याज के आयात व इस प्रक्रिया को सहज बनाने के लिए सहायता करेगी और दूसरी देशों से शीघ्र आपूर्ति सुनिश्चित करेगी। इसे प्राप्त करने के लिए कृषि मंत्रालय ने फाइटोसैनेटरी व फ्यूमिगेशन की जरूरतों को उदार बनाया है। अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की व ईरान में भारतीय मिशनों को भारत को प्याज की आपूर्ति को सुविधाजनक बनाने को कहा गया है।

पासवान ने बताया कि मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उन्होंने प्याज के दाम की समीक्षा की है। प्याज के उत्पाद एवं आपूर्ति के बारे में भी विस्तृत चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि प्याज के उत्पादन में 30-40 फीसदी की कमी के कारण प्याज के दाम में तेजी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि किसी वस्तु की कीमत उसकी मांग एवं आपूर्ति पर निर्भर करती है और फिलहाल मांग के मुकाबले आपूर्ति कम है।