खाद्य रिटेल में एमेजॉन को मिली सैद्धांतिक मंजूरी

0
54

नई दिल्ली। कई माह के इंतजार के बाद ऑनलाइन ई कॉमर्स दिग्गज एमेजॉन को भारत में सिर्फ खाद्य खुदरा स्टोर खोलने में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के प्रस्ताव को सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है।

सरकार ने अभी सिर्फ एमेजॉन को लेकर सहमति जताई है, लेकिन सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि  अन्य आवेदकों, ग्रोफर्स और बिग बास्केट को भी अगले कुछ दिनों में मंजूरी मिल जाएगी। औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न दिए जाने की शर्त पर कहा, ‘लंबी चर्चा के बाद हमने एमेजॉन के निवेश प्रस्ताव को मंजूरी देने का फैसला किया है।’
 
उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इससे संबंधित आधिकारिक पत्र कंपनी को जल्द भेजा जाएगा।  सूत्रों ने कहा कि ग्रोफर्स और बिग बास्केट को भी अगले कुछ दिनों में अंतिम मंजूरी मिल जाएगी। प्रस्ताव के मुताबिक कंपनी  पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक इकाई भारत में कारोबार करने के लिए खोलेगी। बहरहाल एमेजॉन के साथ साथ अन्य को भी इस सिलसिले में सरकार की ओर से औपचारिक सूचना का इंतजार है।

एमेजॉन इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम अभी मंत्रालय की ओर से आधिकारिक सूचना का इंतजार कर रहे हैं। ‘  इस साल जनवरी महीने में एमेजॉन ने डीआईपीपी के पास आवेदन किया था। ऑनलाइन कारोबारी ग्रोफर्स और बिग बास्केट ने भी खाद्य वस्तुओं के खुदरा कारोबार में एफडीआई के प्रस्ताव संबंधी आवेदन दिया था। 
 
इस साल मार्च में एमेजॉन ने भारत के खाद्य खुदरा क्षेत्र में कदम रखने का लक्ष्य रखते हुए अगले 5 साल में 51.5 करोड़ डॉलर निवेश की योजना बनाई थी। बिग बास्केट और एमेजॉन सहित सरकार ने सरकार को खाद्य उत्पादों के खुदरा कारोबार में 69.5 करोड़ डॉलर के निवेश का प्रस्ताव मिला था। अन्य कंपनियों को भी जल्द मंजूरी मिलने की उम्मीद है।