नीट-यूजी की टॉप-25 में से 9 रैंक पर बेटियों का कब्जा

0
81

 मेडिकल फाइनल : इस वर्ष नीट-यूजी में 10.82 लाख में से 6,11,739 परीक्षार्थी हुए क्वालिफाई।इस वर्ष सभी को 8 बोनस अंक मिले। ऑल इंडिया काउंसलिंग 3 जुलाई से होगी।

नीट-यूजी, 2017 एक नजर में

  • 11,38,888 रजिस्टर्ड विद्यार्थी 
  • 10,81,945  परीक्षार्थियों ने दी परीक्षा 
  • 6,11,539 विद्यार्थी हुए क्वालिफाई
  • 3,45,313 गर्ल्स चयनित
  • 2,66,226 ब्वायज चयनित

मेडिकल कॉलेज व सीटें कितनी

  • 470 गवर्नमेंट व प्राइवेट मेडिकल कॉलेज
  • 90,900 कुल सीटें
  •  65,170 एमबीबीएस सीटें
  • 25,730 बीडीएस सीटें
  • 308 डेंटल कॉलेजों में
  • 15 प्रतिशत सीटों के लिए ऑल इंडिया मेरिट सूची
  • 85 प्रतिशत सीटों पर होंगे स्टेट रैंक से चयन

अरविंद कोटा।

मेडिकल की सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा नीट-2017 के रिजल्ट में चंडीगढ के नवदीप सिंह ऑल इंडिया टॉपर रहे। उसे सर्वाधिक 697 (99.9999 परसेंटाइल स्कोर) मार्क्स मिले। शुक्रवार को घोषित रिजल्ट में 6,11,739 परीक्षार्थी क्वालिफाई घोषित किए गए, जिसमें 3.45 लाख छात्राएं तथा 2.66 लाख छात्र हैं। इस वर्ष 79,087 गर्ल्स ज्यादा चयनित हुईं।

नीट मे सामान्य वर्ग के 5 लाख 43 हजार 473 तथा शेष आरक्षित वर्ग से सफल रहे। इस वर्ष 720 अंकों के पेपर में 4-4 अंकों के 2 प्रश्न के उत्तर गलत होने से 8 बोनस अंक सभी परीक्षार्थियों को दिए गए।  सीबीएसई द्वारा पहली बार ऑल इंडिया मेरिट में टॉप-25 विद्यार्थियों की सूची जारी की गई, जिसमें 9 गर्ल्स हैं।

मेरिट में चंडीगढ के नवदीप सिंह रैंक-1 तथा एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के क्लास रूम छात्र अर्चित गुप्ता रैंक-2, मनीष मूलचंदानी रैंक-3, अभिषेक वीरेंद्र डोगरा रैंक-5, कनिश तायल रैंक-7 व तनिश बंसल रैंक-10 पर कामयाब रहे। रेजोनेंस के क्लासरूम छात्र संकीर्थ सदानंदा 692 मार्क्स से रैंक-4 तथा गर्ल्स में रक्षिता रमेश रैंक-41 पर चयनित हुई। ऑल इंडिया मेरिट में गर्ल्स केटेगरी में निकिता गोयल रैंक-8 के साथ टॉपर रही। छात्र डेरिक जोसेफ रैंक-6 तथा आर्यन राज सिंह रैंक-9 पर सलेक्ट हुए। एम्स में टॉपर निशिता पुरोहित नीट-यूजी में एआईआर-17 पर सफल रही।    

90,900 सीटों के लिए होगी काउंसलिंग

एम्स तथा जिपमेर के अतिरिक्त नीट-यूजी की ऑल इंडिया मेरिट सूची से देश के सभी गवर्नमेंट, प्राइवेट तथा डीम्ड यूनिवर्सिटी के मेडिकल कॉलेजों में 65,170 एमबीबीएस सीटों तथा 25,730 बीडीएस सीटों पर नीट यूजी-2017 की मेरिट सूची से दाखिले होंगे। इसमें एमबीबीएस व बीडीएस की 15 प्रतिशत सीटें ऑल इंडिया कोटा तथा शेष 85 प्रतिशत सीटें 25 राज्यों में स्टेट रैंक के अनुसार वरीयता क्रम से भरी जाएंगी। पहली बार देश में 10,81,945 परीक्षार्थियों ने नीट पेपर दिया, जो गत वर्ष से 41 प्रतिशत अधिक है। इस वर्ष 1522 अप्रवासी भारतीय तथा 613 विदेशी परीक्षार्थी इसमें शामिल हुए। 

कॉमन टेस्ट से दाखिले के अवसर बढे़ 

मेडिकल में देश की कॉमन प्रवेश परीक्षा नीट यूजी-2017 की काउंसलिंग में सभी गवर्नमेंट व प्राइवेट मेडिकल कॉलेज तथा डीम्ड यूनिवर्सिटी के मेडिकल कॉलेज शामिल होंगे। नीट क्वालिफाई करने वाले छात्र ऑर्म्ड फोर्स्ड मेडिकल कॉलेज (एएफएमसी, पुणे) के प्रवेश टेस्ट ईएलआर के लिए पात्र होंगे। इस टेस्ट में इंग्लिश, कॉप्रिंहेंसिव, लॉजिकल व रीजनिंग के प्रश्न पूछे जाएंगे तथा चयनित विद्यार्थी इंटरव्यू के बाद दाखिला ले सकेंगे। एएफएमसी की 130 एमबीबीएस सीटों में से 105 ब्वायज तथा 25 सीटें गर्ल्स के लिए आरक्षित हैं। इसके अतिरिक्त इस वर्ष एम्स की 707 सीटों तथा जिपमेर की 200 एमबीबीएस सीटों पर अलग प्रवेश परीक्षाएं हुईं। जिपमेर के पांडिचेरी व कराइरल कैंपस में 200 एमबीबीएस सीटों के लिए 1,49,369 परीक्षार्थियों ने पेपर दिया। 

इस वर्ष भी मेडिकल में बेटियां आगे 

इस वर्ष कुल 10.82 लाख परीक्षार्थियों में सर्वाघिक 6.41 लाख गर्ल्स में से 3.45 लाख बेटियां चयनित हुई जबकि 4.97 लाख ब्वायज में से 2.66 लाख क्वालिफाई हुए। 79,087 गर्ल्स का चयन ज्यादा होने से मेडिकल में उनका वर्चस्व रहा। एमसीआई के अनुसार, इस वर्ष देश के 470 मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की 65,170 सीटों तथा 308 डेंटल कॉलेजों की 25,730 बीडीएस सीटों पर दाखिले नीट-यूजी की रैंक से दिए जाएंगे। 

इस वर्ष महाराष्ट्र से सर्वाधिक परीक्षार्थी नीट-2017 में

कहां से कितने परीक्षार्थी – 

       राज्य                           शहर                      परीक्षार्थी

  • महाराष्ट्र                      10                        1,39,273
  • उत्तरप्रदेश                   8                           97,568
  • राजस्थान                     5                            85,172
  • गुजरात                       6                            60,473
  • दिल्ली                         5                            53,914
  • मध्यप्रदेश                   5                             42,100 

कटऑफ परसेंटाइल व मार्क्स

  • केटेगरी परसेंटाइल मार्क्स (720 में से)
  • सामान्य वर्ग – 50 360
  • एससी, एसटी, ओबीसी – 40 288
  • दिव्यांग – 45 324

काउंसलिंग 3 जुलाई से 16 अगस्त तक 

  • नीट-यूजी में ऑल इिंडया कोटा की 15 प्रतिशत सीटों के लिए काउंसलिंग 3 जुलाई से प्रारंभ होगी-
  • 3 से 11 जुलाई-    रजिस्ट्रेशन
  • 5 जुलाई – च्वाइस फिलिंग संभावित सीटों पर
  • 12 जुलाई – च्वाइस लॉक करना
  • 13 से 14 जुलाई -राउंड-1 में सीट आवंटन की प्रक्र्रिया
  • 15 जुलाई – सीट अवांटन 
  • 16 से 22 जुलाई – प्रथम चरण में मेडिकल व डेंटल कॉलेज में रिपोर्टिंग
  • 1 से 4 अगस्त – च्वाइस चयन एवं लॉकिंग 
  • 5 से 7 अगस्त – राउंड-2 मे सीट आवंटन की प्रक्र्रिया
  • 8 अगस्त – सीट आवंटन 
  • 9 से 16 अगस्त- संबंधिक मेडिकल कॉलेज में रिपोर्टिंग करना
  • 16 अगस्त – रिक्त सीटें स्टेट कोटा में ट्रांसफर 

पहले गोल तय करो, फिर हार्डवर्क में जुट जाओ

रक्षिता रमेश, रैंक-41

पापा- रमेश गोपालकृष्णन सॉफ्टवेयर इंजीनियर 

मम्मी– अर्चना के

आपकी स्कूल लेवल से ही जिस सब्जेक्ट में रूचि है, पहले उसमें गोल तय करो और हार्डवर्क करने में जुट जाओ। जब अच्छे कॅरिअर के लिए हम खुद तैयार हो जाएं तो दूसरी दिक्कतें छोटी हो जाती है। यह कहना है नीट-यूजी में सामान्य वर्ग की स्टूडेंट रक्षिता रमेश का। उसने ऑल इंडिया रैंक-41 हासिल की। कर्नाटक स्टेट बोर्ड से 12वीं साइंस में उसने 98.17 प्रतिशत मार्क्स अर्जित किए। केमिस्ट्री में 100, फिजिक्स, बायोलॉजी व मैथ्स में 99 प्रतिशत मार्क्स मिले। इस वर्ष वह केसीईटी-2017 में स्टेट रैंक-1 पर कामयाब हुई। एम्स में उसे एआईआर-460 मिली। केवीपीवाय फैलाशिप लेने वाली रक्षिता ने रेजोनेंस के बैंगलुरू सेंटर से क्लासरूम कोचिंग ली। वह मॉड्यूल से ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन ज्यादा करती रही। समय मिलन पर टीवी देखकर हमेशा रिलेक्स रही। वह बैंगलुरू मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस के बाद न्यूरो सर्जरी में स्पेशलाइजेशन करेगी।