CBSE Exam होगा आसान, पैटर्न में करेगा बदलाव, जानिए कैसे

0
452

नई दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) इस सेशन से 10वीं और 12वीं के बोर्ड एग्जाम में कई बदलाव करेगा। बोर्ड का फोकस कम नंबर के ज्यादा सवालों को बढ़ाना और इंटरनल असेस्मेंट पर होगा। साथ ही कोर्स से कुछ चैप्टर भी हटाए जाएंगे।

सीबीएसई अधिकारियों का कहना है कि बोर्ड एग्जामिनेशन को आसान बनाने के लिए बोर्ड कम नंबर के सवालों पर फोकस कर रहा है। उन्होंने कहा कि सीबीएसई स्कूल आधारित आंतरिक आंकलन को मजबूत करना चाहता है। इस कड़ी में सीबीएसई ने 10वीं क्लास के सोशल साइंस में कुछ बदलाव किए हैं।

बोर्ड ने तीन राजनीतिक और दो पर्यावरण के चैप्टर हटा दिए हैं। इनमें चैलेंजेज टु डेमोक्रेसी, पॉलिटिकल स्ट्रग्ल्स ऐंड मूवमेंट्स, डेमोक्रेसी ऐंड डाइवर्सिटी, फॉरेस्ट ऐंड वाइल्डलाइफ और वॉटर रिसोर्सेज शामिल हैं। हालांकि, इंटरनल एग्जाम में इन्हें रखा जाएगा।

बोर्ड एग्जाम से इन्हें अलग किया
बोर्ड ने 12वीं के अंग्रेजी और गणित के एग्जाम में बदलाव का इरादा किया है। दोनों ही पेपर में 20 नंबर का इंटरनल एग्जाम होगा। साथ ही पेपर में 1 नंबर वाले सवाल बढ़ाए जाएंगे। 12वीं में अभी एक नंबर के चार सवाल, 2 नंबर के 8 सवाल, 4 नंबर के 11 सवाल और 6 नंबर के 6 सवाल आते हैं।

मगर अगले साल एक नंबर के 20 सवाल पूछे जाएंगे। 2 नंबर के 6 सवाल, 4 नंबर के 6 सवाल, और 6 नंबर के 4 सवाल पूछे जाएंगे। यानी अब 29 की जगह 36 सवाल आएंगे। अंग्रेजी में रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन को 30 से 20 नंबर का कर दिया गया है।