मुख्य प्रबंधक हाशमी को बहाल नहीं किया तो रोडवेज कर्मचारी करेंगे भूख हड़ताल

0
1460

-बेटिकट यात्री मिलने पर मुख्य प्रबंधक ने बस सारथी के लगाया रिमार्क, बस सारथी ने फंसाने के लिए फर्जी वीडियो किए वायरल

कोटा। रोडवेज कर्मचारियों ने मुख्य प्रबंधक जावेद अली हाशमी की बहाली की मांग को लेकर भूख हड़ताल की चेतावनी दी है। कोटा एटक शाखा कार्यकारी अध्यक्ष अब्दुल मजीद ने सोमवार को आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि झालावाड़ आगार के टर्मिनेट चालक नरेंद्र सिंह उर्फ बना ने झालावाड़ रोडवेज बस स्टैंड पर एक गिरोह बना रखा है तथा आए दिन झालावाड़ आगार के मैनेजर समेत अन्य अधिकारियों को आए दिन धमकाता है।

उन्होंने बताया कि कोटा आगार के मुख्य प्रबंधक जावेद अली हाशमी ने पिछले दिनों कोटा स्थित केबल नगर में झालावाड़ आगार के बस सारथी नरेंद्र सिंह जो कि पूर्व में सेवापृथक चालक रहा है, के वाहन संख्या 406 झालावाड़ से कोटा आते समय केबल नगर के यहां बस की चैकिंग की तो उसमें 10 यात्री बिना टिकट पाए गए थे। उस पर किराया राशि 470 रुपए का रिमार्क अंकित किया गया।

उन्होंने बताया कि इस कारण रोडवेज झालावाड़ के मुख्य प्रबंधक द्वारा बस सारथी नरेंद्र सिंह की सिक्यूरिटी राशि को जब्त किया गया। इस पर नरेंद्र सिंह ने मोबाइल पर कोटा मुख्य प्रबंधक जावेद अली हाशमी के साथ गाली गलौच व अभद्र व्यवहार किया।

इसके बाद नरेंद्र सिंह ने कोटा मुख्य प्रबंधक हाशमी को षडय़ंत्रपूर्वक रूप से फंसाने के लिए सोशल मीडिया पर झूठे ऑडियो वीडियो वायरल किए, जिसका हाशमी से कोई लेना देना नहीं है। झूठे ऑडियो वीडियो के आधार पर रोडवेज की प्रबंध निदेशक शुचि शर्मा ने हाशमी को एपीओ कर दिया है।

बीएमएस कोटा आगार के अध्यक्ष नासिर अली ने बताया कि हाशमी से यदि कोई शिकायत थी तो यूनियन के पदाधिकारी या कोटा डिपो के कर्मचारी उनकी शिकायत करते, जबकि ऑडियो व वीडियो में उनका कोई लेना देना नहीं है। इसके बावजूद भी उन्हें एपीओ किया गया है।

हाशमी ने पिछले दिनों झालावाड़ आगार के बस सारथी नरेंद्र सिंह समेत अन्य लोगों के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर रोडवेज की प्रबंध निदेशक शुचि शर्मा को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग भी की है। उन्होंने बताया कि नरेंद्र सिंह बस एजेंटों का सरगना है, जो झालावाड़ बस स्टैंड पर एसटीडी का संचालन भी करता है।

साथ ही झालावाड़ से संचालित सभी परिचालकों एवं बस एजेंटों को रोडवेज के उडनदस्ते की लोकेशन की जानकारी मोबाइल पर देता है। झालावाड़ में सभी एजेंट जब ड्यूटी पर ऑफ होते है तो नरेंद्र सिंह आधा हिस्सा अपने पास रखता है एवं आधा हिस्सा बस एजेंटों को देता है। इन एजेंटों की बसों को जो भी चैक करता है नरेंद्र सिंह उनको धमकाने के साथ मारपीट करने की धमकी देता है।

रोडवेज कर्मचारियों की यूनियन एटक के कार्यकारी संभागीय अध्यक्ष अब्दुल मजीद, बीएमएस कोटा आगार के अध्यक्ष नासिर अली, कोटा इंटक प्रभारी गिरधारी लाल सांखला, बीएमएस कोटा आगार के सचिव कैलाश शर्मा, कोटा एटक के संभागीय सचिव राजू सिंधी, एटक के अशरफ अली समेत अन्य पदाधिकारियों ने कोटा डिपो मैनेजर जावेद अली हाशमी के साथ उचित न्याय दिलवाने की मांग की है।

कर्मचारी बैठेंगे भूख हड़ताल पर
यूनियन के पदाधिकारियों ने बताया कि जावेद अली हाशमी को वापस बहाल नहीं किया तो कोटा डिपो के 400 स्थाई कर्मचारी भूख हड़ताल पर बैठेंगे और हाशमी को फिर से मुख्य प्रबंधक के पद पर लगाने की मांग करेंगे। जब तक कर्मचारियों की मांग पूरी नहीं हो जाती तब तक जगह-जगह धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में कोटा आगार के एसटीडी आशीष जैन एवं मनीष जैन भी कर्मचारियों को गुमराह कर परिचालकों को अवैध वसूली कर निगम को राजस्व हानि करवा रहे है। इनकी पुलिस से साठगांठ है। इनके विरुद्ध भी निगम प्रशासन से कार्रवाई करने की मांग की है।

प्रेसवार्ता में एटक के कोटा संभागीय कार्यकारी अध्यक्ष अशरफ अली बबलू, सचिव राजूलाल सिंधी, भारतीय मजदूर संघ के संभागीय अध्यक्ष मुरारीलाल वर्मा व कोटा संभाग कार्यसमिति सदस्य अवनीश श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।