सेंसेक्स रिकार्ड स्तर से 274 अंक फिसल कर 38,837 पर बंद, निफ्टी 11,650 पार

0
202

नई दिल्ली। कंपनियों के तिमाही नतीजों और वैश्विक संकेतों से निवेशकों में उत्साह बढ़ने के बाद आईटी, टेक, ऑटो, मेटल सेक्टर में लिवाली के दम पर भारतीय शेयर बाजार तेजी के साथ बंद हुए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 164 अंकों की तेजी के साथ 38,837 अंकों पर बंद हुआ।

हालांकि, यह दिन के उच्चतम स्तर 39,111 अंक के मुकाबले 274 अंकों की तेजी खोकर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का 50 शेयरों का संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 31 अंकों की तेजी के साथ 11,655 अंकों पर बंद हुआ। इस प्रकार निफ्टी भी अपने उच्चतम स्तर से करीब 65 अंकों की बढ़त खोकर बंद हुआ।

ऑटो और मेटल सेक्टर में जमकर लिवाली
सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो सेंसेक्स में ऑटो और मेटल सेक्टर में जमकर लिवाली रही। टाटा मोटर्स, मारुति सुजुकी, टीवीएस मोटर्स, हीरो मोटोकॉर्प में छाई लिवाली की बदौलत ऑटो सेक्टर 194 अंकों की तेजी के साथ बंद हुए। वहीं मेटल सेक्टर में 236 अंकों की तेजी दर्ज की गई। हिंडाल्को, वीईडीएल, टाटा स्टील, सेल जैसी कंपनियों के शेयरों में जमकर लिवाली हुई।

मिडकैप-स्मॉलकैप शेयरों का हाल
सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में मिडकैप-स्मॉलकैप में तेजी का माहौल रहा। सेंसेक्स में मिडकैप शेयर 59 अंकों की तेजी के साथ 15,538 अंकों पर और स्मॉलकैप शेयर 110 अंकों की तेजी के साथ 15,137 अंकों पर बंद हुए। निफ्टी-50 में मिडकैप में 0.19 फीसदी और स्मॉलकैप में 0.93 फीसदी की तेजी रही। यह क्रमश: 5087 और 3287 अंकों पर बंद हुए।

इन शेयरों में रही तेजी
सेंसेक्स में आंध्रा बैंक में 16.01 फीसदी, लक्ष्मी विलास बैंक में 10 फीसदी, टाटा स्टील में 9.98 फीसदी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में 8.81 फीसदी और वेलस्पून कॉर्प में 8.44 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। निफ्टी में टाटा मोटर्स में 7.49 फीसदी, हिंडाल्को में 5.28 फीसदी, भारती एयरटेल में 2.97 फीसदी, विप्रो में 2.69 फीसदी और मारुति सुजुकी के शेयरों में 2.51 फीसदी की तेजी रही।

इन शेयरों में रही गिरावट
सेंसेक्स में आरकॉम में 4.83 फीसदी, आरईसी लिमिटेड में 4.65 फीसदी, नव भारत वेंचर्स लिमिटेड में 4.52 फीसदी, सीजी पावर में 4.33 फीसदी और एफएलएफएल में 4.27 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। निफ्टी में जी एंटरटेनमेंट में 3.28 फीसदी, यूपीएल में 2.80 फीसदी आयशर मोटर्स में 2.59 फीसदी, आईओसी में 2.55 फीसदी और इंड्सइंड बैंक में 2.23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।