GST Fraud: कांग्रेसी नेता ने फर्जी बिलों से लगाई 10 करोड़ की चपत

0
705

फरीदाबाद।फर्जी बिलों के आधार पर जीएसटी की चपत लगाने के आरोप में फैक्टरी मालिक व कांग्रेसी नेता मनोज अग्रवाल व उनके कारोबारी साथी को सेंट्रल जीएसटी विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है। दोनों ने मिलकर करीब 10 करोड़ का हेर-फेर किया। टीम ने शाम को ही दोनों आरोपियों को जिला कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

कांग्रेस नेता मनोज अग्रवाल की बल्लभगढ़ में रबर का सामान बनाने की फैक्ट्री है। केंद्रीय जीएसटी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मनोज ने जीएसटी विभाग में अपना पंजीकरण करवा रखा है। मनोज यह घोटाला अपने साथी अनिल कुमार के सा‌थ मिलकर कर रहे थे। मनोज, अनिल से माल की जगह केवल बिल की पर्ची लेता और इनपुट टैक्स क्रेडिट का सरकार से लाभ ले रहा था। दोनों ही आरोपी काफी समय से जीएसटी अदा नहीं कर रहे थे।

जांच के बाद पता चला खेल
विभाग ने शक के आधार पर मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि करीब डेढ़ साल से आरोपी फर्जी बिलों के आधार पर विभाग को जीएसटी की चपत लगा रहे थे। आरोप है कि दोनों अब तक आठ से दस करोड़ रुपये के इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ ले चुके हैं। गुरुवार को केंद्रीय जीएसटी विभाग की टीम ने बल्लभगढ़ स्थित मनोज अग्रवाल के ऑफिस पर छापा मार कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने उनकी निशानदेही पर अनिल को भी पकड़ लिया। जीएसटी टीम के साथ पुलिस ने दोनों का बीके अस्पताल में मेडिकल कराया, इसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया। उधर, सेंट्रल जीएसटी से जुड़े अधिकारियों ने इस सिलसिले में कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया। वे सिर्फ यही कहते रहे कि मामले की जानकारी शुक्रवार को सार्वजनिक की जाएगी।

क्या है राजनीतिक रुतबा
मनोज अग्रवाल की गिनती हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर के करीबियों में होती है। वे बल्लभगढ़ विधानसभा सीट पर ताल ठोक रहे थे और कांग्रेस टिकट के लिए प्रयास में जुटे थे।