सरकार का इस बार 357 लाख टन गेहूं खरीदी का लक्ष्य

0
173

इंदौर। इस साल गेहूं का उत्पादन पिछले साल के मुकाबले 20 लाख टन अधिक होने के अनुमान के बावजूद सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर इसकी खरीदी का लक्ष्य पिछले साल के समान ही 357 लाख टन रखा है।

कृषि मंत्रालय के दूसरे अनुमान के मुताबिक चालू रबी में गेहूं का उत्पादन बढ़कर 991.2 लाख टन होने का अनुमान है, जबकि पिछले फसल सीजन में 971.1 लाख टन का उत्पादन हुआ था। पहली अप्रैल से शुरू होने वाले रबी विपणन सीजन 2019-20 में केंद्र सरकार ने 357 लाख टन गेहूं एमएसपी पर खरीदने का लक्ष्य तय किया है, जबकि पिछले रबी में 357.95 लाख टन गेहूं खरीदा गया था।

चालू रबी विपणन सीजन के लिए गेहूं की एमएसपी 105 रुपए बढ़ाकर 1,840 रुपए प्रति क्विंटल तय की गई है, जबकि पिछले रबी विपणन सीजन में 1,735 रुपए प्रति क्विंटल पर खरीद हुई थी। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के अनुसार चालू रबी सीजन में पंजाब से 125 और हरियाणा से 85 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है।

इस साल पंजाब में 171.60 लाख टन और हरियाणा में 132.19 लाख टन गेहूं उत्पादन का अनुमान है। पंजाब से गेहूं की खरीद पहली अप्रैल 2019 से शुरू होगी और 25 मई तक खरीद की जाएगी। राज्य में एफसीआई 413 और राज्य की एजेंसियां 1,423 खरीद केंद्र खोलेगी। हरियाणा से भी एमएसपी पर गेहूं की खरीद पहली अप्रैल से 15 मई तक चलेगी।

राज्य में एफसीआई 86 और राज्य सरकार की एजेंसियां 298 खरीद केंद्रों के जरिए गेहूं खरीदेंगी। पिछले रबी सीजन में एमएसपी पर पंजाब से 126.92 लाख टन और हरियाणा से 87.84 लाख टन गेहूं की खरीद की गई थी।

मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश से खरीद का लक्ष्य कम
मध्य प्रदेश से चालू रबी में 75 लाख टन और उत्तर प्रदेश से 50 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा किया है। मध्य प्रदेश में गेहूं का उत्पादन 207.74 लाख टन और उत्तर प्रदेश में 350 लाख टन होने का अनुमान है। मध्य प्रदेश से गेहूं की खरीद 15 मार्च से 15 जून के दौरान की जाएगी, जिसके लिए राज्य की सरकारी एजेंसियां 3,100 खरीद केंद्र खोलेंगी।

160 रुपए प्रति क्विंटल बोनस
मध्य प्रदेश अकेला ऐसा राज्य है, जहां सरकार 160 रुपए प्रति क्विंटल बोनस दे रही है। उत्तर प्रदेश से पहली अप्रैल से 15 जून तक एमएसपी पर गेहूं की खरीद की जाएगी। इसके लिए एफसीआई 213 और राज्य सरकार 6,000 केंद्र खोलेगी। पिछले रबी में मध्य प्रदेश से 73.13 लाख टन और उत्तर प्रदेश से 52.94 लाख टन गेहूं की सरकारी खरीद की गई थी।

राजस्थान से ज्यादा होगी खरीद
राजस्थान से 17 लाख टन, बिहार से 2 लाख टन, गुजरात से 50 हजार टन, उत्तराखंड से 2 लाख टन और अन्य राज्यों से 50 हजार टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है। पिछले रबी सीजन में राजस्थान से 15.32 लाख टन, उत्तराखंड से 1.10 लाख टन, गुजरात से 37 हजार टन और चंडीगढ़ से 14 हजार टन तथा बिहार से 18 हजार टन गेहूं खरीदा गया था।

राजस्थान में इस साल 113.60 लाख टन, बिहार में 56.10 लाख टन, गुजरात में 24.20 लाख टन और उत्तराखंड में 9.26 लाख टन गेहूं उत्पादन का अनुमान है।