हमारे सामान के बिना नहीं रह सकता भारत, बॉयकॉट पर झल्लाए चीन ने कहा

0
111

नई दिल्ली। लम्बे अर्से से पाकिस्तान की हर प्रकार की मदद करने पर देशवासियों का चीन के प्रति गुस्सा प्रकट करने के लिए देश के व्यापारियों के सबसे बड़े संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आवाहन पर देश भर के विभिन्न राज्यों में व्यापारी संगठनो ने 1500 से अधिक स्थानों पर चीनी वस्तुओं की होली जलाई और चीन के बने सामान का बहिष्कार करने का संकल्प लिया।

चीन के प्रॉडक्ट्स के बॉयकॉट की उठ रही मांग के बीच पड़ोसी देश की मीडिया ने भारत को चुनौती देते हुए तंज कसा है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि भारतीय मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री अभी भी अविकसित है और इसमें प्रतिद्वंद्विता की क्षमता नहीं है। यही कारण है कि भारत में ‘बॉयकॉट चाइनीज प्रॉडक्ट्स’ मुहिम अब तक असफल रहा है।

सोमवार को ग्लोबल टाइम्स में छपे एक ब्लॉग में कहा गया कि मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयास को यूएन में चीन द्वारा रोके जाने के बाद भारतीय विश्लेषक मेड इन चाइना प्रॉडक्ट्स के बहिष्कार की अपील कर रहे हैं। लेकिन इतने सालों में भारत का बॉयकॉट का प्रयास विफल रहा, इसका कारण यह है कि भारत खुद प्रॉडक्ट्स का उत्पादन नहीं कर सकता है।

लेख में आगे कहा गया, ‘पसंद करें या नहीं, उन्हें अभी भी चीन में बने सामानों का इस्तेमाल करना पड़ेगा क्योंकि अभी भी बड़े पैमाने पर उत्पादन में भारत की क्षमता कम है।’ इसके साथ ही चीन के अखबार ने चेताया, ‘यदि आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी राष्ट्रवाद को उभारने और लोकप्रियता हासिल करने के लिए चीन का डर दिखाएंगे तो यह खतरनाक होगा।’