स्टोन उद्योग चोपट करने की साजिश कामयाब नहीं होगी: व्यापार महासंघ

0
1026

कोटा। कोटा व्यापार महासंघ ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि हाड़ौती के कोटा स्टोन उद्योग को चौपट करने की साजिश को कामयाब नहीं होने दिया जायेगा। आज स्टोन उद्यमियों की एक बैठक में उद्यमियों ने कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी को बताया कि पिछले 7 दिनों से कोटा एवं सेड स्टोन का समस्त कारोबार एवं माइंस पूरी तरह ठप्प हो गई है।

इसका मुख्य कारण 1 अप्रैल 2018 से छोटे-छोटे करीब 6 हजार ट्रकों पर करोड़ों की ओैर ओवरलोड़ बताकर डिमाण्ड निकाल दी गई है, जबकि 15 टन का रवन्ना काटा जा रहा था। ओवरलोड़ की पूरी डिटेल सरकार के पास जा रही थी, तो उसी समय क्यों नहीं रोका गया।

अब 1-1 ट्रक पर 10 से 30 लाख तक ओवरलोड़ की डिमाण्ड निकाली गई है, जो किसी भी मामले में न्यायौचित नहीं है, वर्तमान में इन ट्रकों के चालक ही इनके मालिक है। इन ट्रकों की कीमत भी 2 से 3 लाख तक की है। किसी भी कीमत पर वह इस राशि को नहीं चुका सकते ।

इसके चलते पूरा स्टोन व्यवसाय ठप्प हो गया है, मार्च से जून तक का सीजन माईनिंस और इस कारोबार का होता है एवं 3 लाख लोग इस रोजगार से जुडे हुये है जिनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है ।

कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी ने हाडौती के प्रमुख उद्योग पर आये इस कुठाराघात को गंभीर मानते हुए मुख्यमंत्री से इस मामले को गंभीरता से लेते हुये इस तुरन्त राहत दिलाई जाने की मांग की है, माहेश्वरी ने बताया कि पहले यह उद्योग भारी मंदी की मार झेल रहा है, अगर दम तोड़ते इस उद्योग को राहत नहीं दी गई तो पूरा उद्योग चौपट हो जायेगा।

कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी ने राज्य के मुख्य मंत्री को फेक्स द्वारा ज्ञापन भेज कर हाडौती की इस ज्वलन्त समस्या का निस्तारण करने की मांग की है। ताकि स्टोन उद्यमियों एवं ट्रक मालिको को राहत मिल सके।

बैठक में कोटा स्टोन स्माल स्केल इण्ड. एसो. रामगंजमण्डी के सरक्षंक यतीश अग्रवाल लुघ उद्योग भारती के अध्यक्ष विपिन सूद, खादी ग्रामोद्योग संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र जैन, हाडौती कोटा स्टोन इण्ड. एसो. के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता, संरक्षक छुट्टन लाल शर्मा, निर्वाचित अध्यक्ष महावीर जैन, उपाध्यक्ष पदम जैन, स्टोन मर्चेन्ट विकास समिति के संरक्षक घनश्याम गुप्ता सहित कई स्टोन उद्यमी शामिल थे।