स्वागत के लिए बॉर्डर पर हजारों की भीड़, कुछ देर में भारत पहुंचेंगे अभिनंदन

0
86

अमृतसर। दुश्मनों से लोहा लेते हुए पाकिस्तान के कब्जे में पहुंचे भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन आज भारत वापस लौट रहे हैं। उनके भव्य स्वागत के लिए सुबह से ही अटारी-वाघा बॉर्डर में लोग मौजूद हैं। इस दौरान हाथ में तिरंगा लिए और नारे लगाते हुए लोग अभिनंदन का इंतजार कर रहे हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शांति पहल की दुहाई देकर अभिनंदन को रिहा करने की घोषणा की थी। इससे पहले भारत ने बिना शर्त अभिनंदन की रिहाई की मांग की थी।

पाकिस्तान दिखा रहा है पैंतरा
हालांकि ऐसी भी खबरें हैं कि पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई में अभी भी पैंतरा दिखा रहा है। खबरों के मुताबिक पाकिस्तान अटारी बॉर्डर पर होने वाले बीटिंग रिट्रीट समारोह के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन को सौंपना चाह रहा है। बता दें कि करगिल युद्ध के दौरान भी पाकिस्तान भारतीय पायलट नचिकेता को मीडिया के सामने भारत को सौंपना चाह रहा था लेकिन भारत से साफ इनकार कर दिया था।

विमान से अभिनंदन को दिल्ली लाया जाएगा
हालांकि अभी पाकिस्तान ने अभिनंदन के रिहा करने के समय के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है लेकिन सूत्रों के मुताबिक शाम 3-4 बजे के बीच अभिनंदन अटारी बॉर्डर पहुंचेंगे। खबरों के मुताबिक अभिनंदन को अटारी सीमा से वायुसेना के विमान से सीधे दिल्ली लाया जाएगा। ऐसी भी खबरें हैं कि वायुसेना अभिनंदन को एक विशेष विमान से सीधे दिल्ली लाना चाहती है।

अभिनंदन के माता-पिता का ताली बजाकर हुआ स्वागत
अटारी-वाघा बॉर्डर पर इस समय सुरक्षा चाक-चौबंद हैं। गुरुवार को देर रात अभिनंदन के माता-पिता भी अपने बेटे को लेने के लिए चेन्नै से दिल्ली रवाना हुए थे। दिल्ली पहुंचते ही विमान के अंदर एक विडियो सामने आया है जिसमें यात्री ताली बजाकर अभिनंदन के पिता एयर मार्शल (रिटायर्ड) एस. वर्तमान का स्वागत कर रहे हैं। सभी यात्री उन्हें धन्यवाद कहते हुए विमान से पहले उतरने का रास्ता बना रहे हैं।

जिनीवा समझौते के तहत अभिनंदन होंगे रिहा
इसके बाद वे दिल्ली से फ्लाइट लेकर अमृतसर पहुंच गए। बता दें कि अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ने के बाद पाकिस्तान ने शांति पहल की दुहाई देकर अभिनंदन को छोड़ने की बात कही थी लेकिन भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान का प्रॉपेगैंडा उजागर करते हुए कहा कि जिनीवा समझौते के तहत पाकिस्तान अभिनंदन को नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। उसके पास हर हाल में भारतीय पायलट को रिहा करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।

‘वायुसेना के अधिकारी करेंगे रिसीव’
अमृतसर के डेप्युटी कमिश्नर शिव दुलार सिंह ढिल्लन ने बताया कि अभी तक विंग कमांडर अभिनंदन के लौटने का समय पता नहीं है। उन्होंने कहा, ‘वह जिस समय आएंगे, हम उनका स्वागत करेंगे। भारतीय वायुसेना ने उन्हें लाने के लिए अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दिल्ली से यहां भेजा है और वही उन्हें रिसीव करेंगे।’