चीन भी आया भारत के समर्थन में, छोड़ा पाकिस्तान का साथ

0
69

नई दिल्ली। पुलवामा में पाकिस्तान की ओर से किए गए आतंकी हमले के बाद मंगलवार को भारत ने जबरदस्त एयर स्ट्राइक करते हुए पाकिस्तान में जैश-ए- मोहम्मद के ठिकानों को नष्ट कर दिया। बताया जा रहा है कि इस मिशन में मिराज 2000 विमान शामिल थे।

जानकारी के मुताबिक, भारत वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर 1000 किलो की भारी बमबारी की है। इस हमले में भारतीय वायुसेना ने मिराज 2000 विमानों का इस्तेमाल किया है। जिसमें जैश का अल्फा-3 कंट्रोल रूम पूरी तरह नष्ट कर दिया गया है।

इसी बीच चीन दौरे पर गई भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चीन में पाकिस्तान को आतंकवाद पर घेरा। सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के सबसे बड़े दोस्त चीन के सामने पुलवामा आतंकी हमले का जिक्र किया। और बालाकोट में भारत की ओर से किए गए हमले के बारे में बताया।

भारत, रूस और चीन की इस बैठक के बाद चीन ने भी पाकिस्तान से अपना पल्ला झाड़ते हुए और भारत का सहयोग करते हुए कहा, ‘हम आतंकवाद और कट्टरपंथ की जमीन को खत्म करने में सहयोग करेंगे।’

इसी के साथ राजनयिकों ने यह भी कहा कि पुलवामा हमले के बाद हो सकता है कि चीन पाकिस्तान को किसी तरह की कोई सहायता ना दे। साथ चीन यह भी कह सकता है कि वह पाकिस्तान को केवल आर्थिक मोर्चे पर लिमिटेड साथ दे सकता है। चीन का पाकिस्तान से पल्ला झाड़ने और भारत का सहयोग करने के पीछे एक स्वार्थ छिपा है।

बेल्ट ऐंड रोड फोरम में भारत का सहयोग चाहता है चीन
आपको बता दें कि चीन अप्रैल में होने वाले दूसरे बेल्ट ऐंड रोड फोरम में भारत के सहयोग का इच्छुक है। पिछले साल भारत ने पहले बेल्ट ऐंड रोड फोरम की बैठक का बहिष्कार किया था। बेल्ट ऐंड रोड प्रॉजेक्ट का एक हिस्सा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरेगा और यही कारण है कि भारत ने 2018 ने इसकी बैठक में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था।