कोटा से दिल्ली के लिए हवाई सेवा जुलाई से संभव

0
487

कोटा। कोटा से एक बार फिर हवाई सेवा शुरू होने की उम्मीद जगी है। उड़ान योजना के तीसरे चरण में कोटा से दिल्ली का रूट एलायंस एयर को अवार्ड किया जा चुका है। एएआई मुख्यालय ने कोटा एयरपोर्ट प्रबंधन को निर्देश दिए हैं कि कंपनी जुलाई से हवाई सेवा शुरू कर सकती है, ऐसे में इससे पहले जरूरी व्यवस्थाएं जुटा ली जाएं।

एएआई के सूत्रों ने बताया कि गत दिनों एक उच्च स्तरीय तकनीकी विशेषज्ञों की टीम कोटा एयरपोर्ट का विस्तृत सर्वे करके गई है। टीम ने रनवे के दादाबाड़ी वाले छोर के आसपास के कई ऑब्सट्रैक्ट भी चिह्नित किए हैं। सर्वे में यह भी पाया गया कि पहले हुए सर्वे के मुकाबले अब ऑब्सट्रैक्ट बढ़ गए हैं। वहीं कोटा एयरपोर्ट के लाइसेंस की प्रक्रिया भी तेज कर दी गई है।

साथ ही एयरपोर्ट प्रबंधन से उन सभी जरूरी उपकरणों की जानकारी मांगी गई है, जिनकी यहां जरूरत है और ऑपरेशन के लिए ये उपकरण जरूरी हैं। सूत्रों ने बताया कि उड़ान-3 के तहत जिस कंपनी को कोटा-दिल्ली रूट मिला है, उसके पास ऐसे छोटे विमान हैं, जो कोटा से उड़ाए जा सकते हैं। एटीआर-42 श्रेणी के विमानों को कोटा से संचालित करने की कवायद है। हालांकि बताया जा रहा है कि ये विमान भी लोड घटाकर उतारे जा सकेंगे।

हाल ही में जयपुर एयरपोर्ट निजी हाथों में सौंप दिया गया है। ऐसे में कोटा एयरपोर्ट प्रबंधन को उम्मीद है कि यहां स्टाफ की समस्या दूर हो जाएगी। क्योंकि जयपुर एयरपोर्ट पर कार्यरत कर्मचारियों से विकल्प भरवाए जाएंगे, जिसमें वे नजदीकी एयरपोर्ट के तौर पर जोधपुर या उदयपुर की बजाय कोटा को चुनना सबसे बेहतर मानेंगे। वैसे भी एएआई ऑपरेशन शुरू करने से पहले यहां रिक्त पड़े विभिन्न तकनीकी कर्मचारियों के पदों को भरना चाहती है, ऐसे में आने वाले दिनों में यहां स्टाफ पर्याप्त हो जाएगा।

पहले भी शुरू हुई थी, जो बंद हो गई
राज्य सरकार की इंट्रा स्टेट एयर सर्विस के तहत कोटा से पहले जयपुर और फिर दिल्ली की फ्लाइट शुरू की गई थी, लेकिन दिल्ली की फ्लाइट कुछ ही दिन संचालित हुई, एएआई ने उसके संचालन पर रोक लगा दी। कंपनी और एएआई के बीच हुए विवाद के चलते ऐसा किया गया था। तब से ही कोटा एयरपोर्ट से ऑपरेशन बंद है, सिर्फ चार्टर विमान यहां उतरते हैं।