शहीद हेमराज मीणा के घर तक जल्द बनेगी सड़क, यूडीएच मंत्री के निर्देश

1
823

सांगोद। पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हेमराज के घर तक अब जल्द डामरीकरण सड़क बनेगी। गुरुवार को विनोदकलां गांव में शहीद हेमराज के परिजनों को सांत्वना देने आए स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से सड़क निर्माण में आ रही परेशानियों की जानकारी ली। साथ ही कहा कि शहीद के घर तक जल्द सड़क का काम शुरू हो जाना चाहिए। यदि कोई नहीं मान रहा है तो प्रशासन अपने स्तर पर कार्रवाई कर सड़क का काम जल्द शुरू करवाए।

शहीद के परिजनों ने सड़क का मामला सामने रखा तो मंत्री धारीवाल ने पीडब्ल्यूडी एईएन चंद्रसिंह हाड़ा, तहसीलदार सत्यनारायण बसवाल को बुलाकर अड़चनों की जानकारी ली। साथ ही कहा कि सड़क काम में यदि एक व्यक्ति सहमति नहीं दे रहा है तो रास्ता राजस्व रिकार्ड में कायम करने के लिए दूसरा विकल्प निकालें, लेकिन शहीद के घर तक जल्द सड़क बन जानी चाहिए।

इसके बाद पीडब्ल्यूडी विभाग ने तत्काल सड़क की दूरी का नाप ली। एईएन हाड़ा ने बताया कि 1 किमी 50 मीटर की सड़क बनाने का एस्टीमेट तैयार कर लिया है। ये 7 मीटर बीटी व 150 मीटर सीसी सड़क बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है। इसमें 56 लाख की लागत का अनुमान है। तकमीना तैयार कर सरकार को भेज दिया हैं। स्वीकृति मिलते ही काम शुरू कर देंगे।

सरकारी मदद में देरी पर जताई नाराजगी
इस मौके पर उन्होंने शहीद के परिजनों तक आवश्यक पैकेज का डाटा नहीं पहुंचने पर कार्यवाहक दीगोद एसडीएम के प्रति नाराजगी जताते हुए कहा कि राज्य सरकार को पैकेज की घोषणा किए आठ दिन गुजर गए, लेकिन इनके परिजनों तक पैकेज का आवेदन पत्र अब तक नहीं पहुंचा, इतनी ढिलाई क्यों बरती जा रही है।

उन्होंने एसडीएम को निर्देश दिए कि पैकेज के आवेदन पत्र आज ही पहुंचने चाहिए । साथ ही राज्य सरकार की सहायता राशि व सुविधाएं एक-दो दिन में शहीद के परिजनों तक पहुंचाने की हिदायत दी। मंत्री शांति धारीवाल ने हेमराज के विनोदकलां स्थित घर पहुंच कर श्रद्धांजलि दी। उनके साथ पूर्व यूआईटी चेयरमैन रविंद्र त्यागी, राजेंद्र सांखला, पूर्व जिला प्रमुख भरत मारन, पूर्व प्रधान ओम शर्मा आदि मौजूद रहे।

मां-पिता के नाम से होगी 3-3 लाख की एफडी
मंत्री शांति धारीवाल ने इस मौके पर शहीद के परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि राज्य सरकार ने पैकेज की घोषणा कर दी गई है। इसके अलावा राज्य सरकार शहीद के माता-पिता के नाम से 3-3 लाख रुपए की एफडी करवाएगी। ये काम भी जल्द एक-दो दिन के अंदर निपटा लिया जाएगा। उन्होंने वहां मौके पर मौजूद कार्यवाहक एसडीएम को शहीद के वृद्ध माता-पिता के नाम से आवश्यक कागजात तैयार करवाकर एफडी करवाने को कहा।

शहीद के बेटे ने बोला ‘वंदे मातरम’
यूडीएच मिनिस्टर शांति धारीवाल गुरुवार को शहीद हेमराज के परिवार से मिलने पहुंचे। इस दौरान शहीद हेमराज के छोटे बेटे ऋषभ ने मंत्री के सामने ही वंदे मातरम के नारे लगाए। इसे सुनकर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं। बड़े भाई रामबिलास ने बताया कि कई बार तो वह नींद में भी देशभक्ति के नारे लगाने लग जाता है, इससे हमें भी जीने का संबल मिल रहा है।