गूगल क्रोम का नया एक्सटेंशन, दूर करेगा अकाउंट हैक होने का टेंशन

0
146

नई दिल्ली । साइबर अपराध पर लगाम लगाने के लिए दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी Google ने अपने वेब ब्राउजर क्रोम के लिए एक सिक्योर एक्सटेंशन पेश किया है। इस एक्सटेंशन को ऑनलाइन हैकिंग पर लगाम लगाने के लिए लाया गया है।

इस एक्सटेंशन की खास बात यह है कि यह आपके ब्राउजर में इंस्टॉल होने के बाद आपको दोबारा नहीं दिखाई देगा। लेकिन अगर कोई आपके पासवर्ड के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश करेगा तो यह उसे ऐसा करने से रोकेगा।

Google का यह Password Checkup एक्सटेंशन जब भी आप अपने अकाउंट में लॉग इन करेंगे सूचित करेगा। इस एक्सटेंशन के पार करीब 4 बिलियन यानी की 40 करोड़ से ज्यादा यूजर्स की जानकारियां है लेकिन आज तक इस एक्सटेंशन का डाटा कभी लीक नहीं हुआ है।

अगर किसी भी तरह की जानकारी से छेड़छाड़ करने की कोशिश की जाती है या आपकी निजी जानकारी से मिलती-जुलती जानकारी इसके डाटाबेस में मौजूद रहता है तो यह आपको सूचित करेगा कि आप अपनी निजी जानकारी को बदल लें।

यह एक तरह से आपके पर्सनल सिक्योरिटी रिसर्चर की तरह काम करता है जो आपको समय-समय पर पासवर्ड और यूजरनेम को बदलने के लिए सलाह देता है। जैसे ही इस एक्सटेंशन को आपके अकाउंट हैक की जानकारी लगती है यह आपको फौरन सूचित करता है।

Google के मुताबिक इस एक्सटेंशन को इस तरह से बनाया गया है कि यह यूजर के क्रेडेंशियल्स को गुप्त रख सके। यहां तक की इसके डाटाबेस की जानकारी Google को भी नहीं होती है। इसके अलावा यह हाईजैकिंग जैसी घटनाओं को लगाम लगाने के लिए काम करता है।

यह एक्सटेंशन आपको समय-समय पर सलाह देता है ताकि आप अकाउंट हैक होने जैसे खतरों से बच सकें। आपको बता दें कि पिछले कुछ सालों में निजी जानकारियां लीक होने से लेकर साइबर बुलिंग और साइबर अपराध जैसी कई बड़ी घटनाएं सुनने को मिली है।

इन घटनाओं की वजह से कई यूजर्स की निजी जानकारियां, फोटोज, वीडियोज आदि प्रभावित हुए है। केवल फेसबुक डाटा लीक की वजह से ही करीब 8 करोड़ यूजर्स के डाटा पिछले साल प्रभावित हुए थे। ऐसे में यह एक्सटेंशन आपके अकाउंट हैक होने की टेंशन को काफी हद तक दूर करता है।