नेशनल धनिया सेमिनार कोटा में 10 मार्च को, पैदावार व गुणवत्ता पर होगा मंथन

0
241

कोटा। धनिया व्यापारियों एवं खाद्य पदार्थ केन्वेसिंग एजेन्ट्स एसोसिएशन द्वारा तृतीय राष्ट्रीय धनिया सेमिनार 10 मार्च को ‘होटल कन्ट्री इन कोटा में आयोजित की जाएगी। जिसमें देश-विदेश के लगभग 700 प्रतिनिधि भाग लेंगे।

सेमिनार की तैयारियों के लिए कोटा के धनिया व्यापारियों एवं दलालों की संयुक्त बैठक हुई। जिसमें स्पॉन्सर, स्टॉल, अतिथियों के स्वागत, प्रचार-प्रसार व अन्य विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में हेमन्त कुमार जैन, कमल विजय, महावीर मित्तल, जसुभाई, प्रमोद अग्रवाल, अशोक जैन ने सेमिनार को सफ ल बनाने के लिए सुझाव दिए।

संस्था अध्यक्ष कैलाश चन्द दलाल ने बताया कि देश में पैदा होने वाली धनिए की कुल पैदावार में राजस्थान व मध्यप्रदेश का योगदान 80 प्रतिशत होता है। इस वर्ष धनिया सेमिनार करने का मुख्य उद्देश्य धनिया की बुवाई, पैदावार, मौसमी प्रभाव एवं भविष्य में पैदावार के रूझान का आंकलन करने के साथ ही इसके व्यापार से जुड़े प्रत्येक वर्ग में संवाद स्थापित करना है। ताकि व्यापार में आ रहे निरन्तर बदलाव के अनुरूप सभी वर्ग स्वयं को उसी के अनुरूप समायोजित कर सकें।

यहां से आएंगे प्रतिनिधि
मुंबई के जेब्स इंटरनेशनल, चेन्नई की आची मसाला, पुणे के सुहाना मसाला, बैतूल आयल, इंदौर के पीसी कनन ग्रुप , रामदेव फूलचंद, स्टार एग्री ग्रुप आदि प्रमुख कंपनियों के प्रतिनिधि सेमिनार में चर्चा करेंगे। एसोसिएशन के सचिव रतनलाल गोचर ने बताया कि देशभर के धनिया व्यवसायी नेशनल सेमिनार के लिए पंजीयन करवा रहे हैं। सेमिनार के दो सत्रों में धनिया पैदावार व गुणवत्ता पर विशेषज्ञों द्वारा पैनल चर्चा भी की जाएगी।