दिल्ली में धान और गेहूं बेचने पर किसान हो जाएंगे मालामाल

0
148

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार किसानों से केंद्र के प्रस्तावित न्यूनतम समर्थन मूल्य से करीब दोगुने दर पर अनाज खरीदेगी। सरकार ने राज्य में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का ऐलान किया है। इसके तहत किसानों की लागत पर आने वाले खर्च का 50 फीसदी ज्यादा दाम दिया जाएगा। इसके तहत गेंहू को 2616 रुपए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य के हिसाब से खरीदा जाएगा। वहीं धान के लिए 2667 रुपए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रस्तावित किया गया है।

धान की फसल पर आने वाली लागत
दिल्ली में प्रति हेक्टयेर धान की फसल पर 67328 रुपए लागत आती है। इसके अलावा प्रति हेक्टेयर फसल की मजदूरी लागत 15602 रुपए होती है। इन दोनों खर्च में 8 प्रतिशत सालान दर से 6 माह का ब्याज जोड़ दें, तो कुल फसल उगाने में कुल खर्च 86247 रुपए आएगा, जबकि दिल्ली में प्रति हेक्टेयर धान की पैदावार 48.5 क्विंटल है। इस हिसाब से प्रति क्विंटल धान के पैदावार पर 1778 रुपए लागत आएगी।

धान की तय कीमत- दिल्ली सरकार प्रति क्विंटल धान के प्रस्तावित समर्थन मूल्य (1778) रुपए में 50 फीसदी फायदा देकर 2667 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान की खरीद करेगी।

गेंहू की फसल पर आने वाली लागत
दिल्ली में प्रति हेक्टयेर गेहूं की फसल पर 60418 रुपए लागत आती है। इसके अलावा प्रति हेक्टेयर फसल की मजदूरी लागत 2152 रुपए होती है। इन दोनों खर्च में 8 प्रतिशत सालान दर से 6 माह का ब्याज जोड़ दें, तो कुल फसल उगाने में कुल खर्च 78501 रुपए आएगा, जबकि दिल्ली में प्रति हेक्टेयर धान की पैदावार 45 क्विंटल है। इस हिसाब से प्रति क्विंटल गेंहू के पैदावार पर 1744 रुपए लागत आएगी।

गेंहू की तय कीमत- दिल्ली सरकार प्रति क्विंटल गेंहू के प्रस्तावित समर्थन मूल्य (1744) रुपए में 50 फीसदी फायदा देकर 2616 रुपए प्रति क्विंटल की दस से गेंहू की खरीद करेगी।