सपाट बंद हुए बाजार, सेंसेक्स में 34 अंक की बढ़त, निफ्टी 10,950 के करीब

0
210

नई दिल्ली। दिनभर के कारोबार में निवेशकों के मिलजुले रूख के कारण भारतीय शेयर बाजार मंगलवार को सपाट स्तर पर बंद हुए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज का बीएसई 34 अंकों की बढ़त के साथ 36,616 अंकों पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 22 अंकों की तेजी के साथ 10,934 अंकों पर बंद हुआ।

बीएसई में दिखा मिला-जुला रुख
बंबई स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स में निवेशकों का मिला-जुला रुख रहा। सुबह तेज शुरुआत के बाद शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स गोता लगाता हुआ लाल निशान में पहुंचा। दिनभर के कारोबार में 36,717 इसका उच्चतम स्तर रहा, जबकि 36505 निम्नतम स्तर रहा। बीएसई मिडकैप और स्मॉल कैप भी गिरावट के साथ बंद हुए। कंज्यूमर ड्यूरेबल, फाइनेंस, ऑटो, प्राइवेट बैंक तेजी के साथ हरे निशान में और पीएसयू बैंक, टेलीकॉम, हेल्थकेयर, एनर्जी, इंफ्रास्ट्रक्चर लाल निशान में बंद हुए।

निफ्टी का हाल
ऑटो सेक्टर में तेजी के दम पर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी हरे निशान में बंद होने में कामयाब रहा। ऑटो सेक्टर की बात करें तो हीरो मोटोकॉर्प, महिंद्रा एंड महिंद्रा और बजाज ऑटो जैसी प्रमुख कंपनियों के शेयर लिवाली के चलते बढ़त के साथ बंद हुए।

50 शेयरों के संवेदी सूचकांक निफ्टी में 30 शेयर हरे, 19 शेयर लाल और 1 शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुआ। निफ्टी में पीएसयू बैंक, ऑटो, फाइनेंस सर्विसेज, मीडिया, प्राइवेट बैंक को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरियल इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए। निफ्टी मिडकैप और स्मॉलकैप भी लाल निशान में बंद हुए।

इन शेयरों में रही तेजी
बीएसई में रिलायंस निप्पोन लाइफ एसेट 6.63 फीसदी, बलरामपुर चीनी मिल्स 5.62 फीसदी, ग्रूह फाइनेंस लिमिटेड में 5.40 फीसदी, डीएचएफएल में 5.00 फीसदी, जी एंटरटेनमेंट 4.68 फीसदी और एनएसई में डॉ. रेड्डी 1.62 फीसदी, हीरो मोटोकॉर्प 1.54 फीसदी, यूपीएल 1.34 फीसदी, महिंद्रा एंड महिंद्र 1.16 फीसदी, बजाज ऑटो 1.04 फीसदी की तेजी के साथ टॉप गेनर रहे।

इन शेयरों में रही गिरावट
बीएसई में रिलायंस पावर 30.12 फीसदी, आरकॉम 27.95 फीसदी, सूजलोन 23.26 फीसदी, जेपी एसोसिएट 14.60 फीसदी, सीजी पावर 14.38 फीसदी और एनएसई में भारती एयरटेल 3.85 फीसदी, इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस 2.21 फीसदी, भारती इंफ्राटेल 1.54 फीसदी, टाटा स्टील 1.02 फीसदी, जेएसडब्ल्यू स्टील 0.90 फीसदी की गिरावट के साथ टॉप लूजर रहे।