ज्वेलर्स की पत्नी एवं बेटी के हत्यारे गिरफ्तार, व्यापारियों ने जताया पुलिस का आभार

0
268

कोटा। शहर पुलिस ने स्टेशन क्षेत्र में जैन मंदिर रोड पर ज्वैलर राजेंद्र विजय की बेटी पलक (18) और पत्नी गायत्री (45) की नृशंस हत्या के 72 घंटे बाद रविवार को मुल्जिमों का पता लगाकर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की इस कामयाबी के लिए व्यापार जगत ने आभार व्यक्त किया है।

कोटा में गुरुवार रात की रात ज्वैलर राजेंद्र विजय की पत्नी और बेटी की लूट के इरादे से सरियों से सिर पर वार कर नृशंस हत्या कर दी थी। व्यापार जगत एवं सामाजिक संगठनों के कोटा बंद के आह्वान बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और मुल्जिमों को तत्परता से ढूंढ निकाला।

सर्राफा व्यापारी के घर पर हुई लूटपाट और दोहरे हत्याकांड के आरोपियों को पकड़ने के साथ ही वारदात का खुलासा करने पर सर्राफा बाजार से जुड़ी हुई संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने मुस्तैदी दिखाने के लिए पुलिस प्रशासन का और मंत्री शांति धारीवाल को सक्रिय भूमिका निभाने के लिए आभार व्यक्त किया है।

श्री सर्राफा बोर्ड के अध्यक्ष सुरेन्द्र गोयल विचित्र एवं सचिव विवेक कुमार जैन, स्वर्ण रजत कला उत्थान समिति के अध्यक्ष रमेश सोनी, थोक सर्राफा व्यवसाई संघ के अध्यक्ष अरुण कोठारी, न्यू कोटा सर्राफा स्वर्णकार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र सोनी, रामपुरा सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष भगवान लड्डा ने कहा कि इस ह्रदय विदारक घटना के मुजरिमों को जल्द गिरफ्तार करने से सर्राफा व्यापारियों ने ही नहीं बल्कि आम जनता ने चैन की सांस ली है। उन्होंने कहा कि अब पुलिस को ऐसी वारदातों पर अंकुश लगाने की दिशा में सख्त कदम उठाने चाहिए।

विचित्र ने कहा कि व्यापारी अपनी दुकान और बाजार की सुरक्षा व्यवस्था कर सकते हैं परंतु अब बेखोफ़ अपराधी सड़कों पर या घरों में वारदात को अंजाम दे रहे हैं। कोटा में अपराधों की रोकथाम हेतु सुरक्षाकर्मियों की संख्या और संसाधनों को बढ़ाने के साथ ही आधुनिकीकरण की आवश्यकता है। लोगों को भी सावधानी बरतना और सजग रहना जरूरी हो गया है।