राजस्थान में बेरोकटोक लग सकेगी इण्डस्ट्रीज : उद्योग मंत्री

0
78

जयपुर। उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा है कि राज्य में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने और तेजी से औद्योगिकीकरण के लिए प्रदेश की औद्योगिक नीति में जल्दी ही क्रांतिकारी बदलाव लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश मे बिना किसी देरी के बेरोकटोक इंडस्ट्री लगाईं जा सकेगी।

उद्योग मंत्री मीणा रविवार को इंडिया स्टोन मार्ट के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रदेश में विपुल खनिज संपदा की चर्चा करते हुए स्टोन के आयात-निर्यात के अंतर को कम करने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि देश में बड़ी मात्रा में स्टोन का आयात हो रहा है जिसे कम करना होगा। उन्होंने स्टोन उद्योग को हर संभव बढ़ावा देने का विश्वास दिलाया। उन्होंने सफल आयोजन के लिए रीको, फिक्की, सीडोस सहित सभी आयोजकों को बधाई दी।

परसादी लाल मीणा ने कहा कि प्रदेश में बेहतर निवेशोन्मुखी-रोजगारोन्मुखी औद्योगिक माहौल बनाया जाएगा और उद्योगों से संबंधित समस्याओं का प्राथमिकता से हल खोजा जाएगा।अतिरिक्त मुख्य सचिव खान सुदर्शन सेठी ने कहा कि राज्य की नई खनिज नीति में वैज्ञानिक तकनीक, पर्यावरण संरक्षण व संतुलित विकास पर बल देते हुए खनिज दोहन की व्यवस्था होगी। उन्होंने बताया कि कोटा स्टोन स्लरी का उपयोग ढूंढ लिया गया है और मार्बल स्लरी का जिप्सम व सीमेन्ट उद्योग में प्रायोगिक उपयोग शुरू किया है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा कि स्टोन उद्योग को पर्यावरण संतुलन व संतुलित खनन के लिए रिसाइकिल प्रोडक्ट लाने होंगे। उन्होंने कहा कि देश मे 34 हजार किमी रोड निर्माण में प्लास्टिक वेस्ट का उपयोग किया है। बाय वेस्ट उत्पादों का उपयोग कर खनिज संपदा के असंतुलित दोहन पर रोक लग सकेगी और पर्यावरण संरक्षण के साथ ही भावी पीढ़ी के लिए खनिज संपदा रहेगी।

रीको एमडी गौरव गोयल ने बताया कि10वें संस्करण मे बीस फीसदी अधिक भागीदारी रही है। 1850 करोड़ की बिजनेस इंक्वायरी हुई है जो एक रिकॉर्ड हैं। सीडोस के उपाध्यक्ष अशोक धूत ने बताया कि 484 स्टॉलों में देश-विदेश के प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। फिक्की के रणधीर विक्रम ने चार दिवसीय प्रदर्शनी की जानकारी दी। सीडोस के मुख्य कार्यकारी मुकुल रस्तोगी ने बताया कि 35 हजार से अधिक लोगों ने प्रदर्शनी देखी। उन्होंने प्रतिभागियों व सहभागियों का आभार जताया।