चिटफंड घोटाला: सीबीआई टीम कोलकाता पुलिस की ‘हिरासत’ में

0
83

कोलकाता।कोलकाता स्थित पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के आवास पर पहुंची सीबीआई की टीम को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। सीबीआई टीम को हिरासत में लेने के बाद उसे पुलिस स्टेशन ले जाया गया है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाले जैसे मामलों में सीबीआई की ओर से तलब किए गए कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के बचाव में उतर आईं। उन्होंने बीजेपी पर बदले की भावना वाली राजनीति करने का आरोप लगाया।

ममता ने कहा कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे लोगों में से एक हैं। उनकी ईमानदारी और बहादुरी निर्विवाद है। वह 24×7 काम कर रहे हैं और हाल ही में केवल एक दिन की छुट्टी ली है।

ममता ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी नेतृत्व का शीर्ष स्तर राजनीतिक बदले की ओछी भावना से काम कर रहा है। न सिर्फ राजनीतिक दल उनके निशाने पर हैं बल्कि पुलिस को नियंत्रण में लेने और संस्थानों को बर्बाद करने के लिए वे सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं।

हम इसकी निंदा करते हैं।’ राजीव कुमार 1989 बैच के पश्चिम बंगाल काडर के आईपीएस अधिकारी हैं। पिछले सप्ताह वह निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक में भी शामिल नहीं हुए थे।

‘दस्तावेजों के साथ कमिश्नर के घर पहुंची थी सीबीआई टीम?’
मीडिया रिपोर्ट्स में इस पूरे मामले को लेकर एक और अहम बात सामने आई है कि पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची सीबीआई टीम के पास पूछताछ के सभी दस्तावेज मौजूद थे। इसके बावजूद सीबीआई टीम को चारों ओर से घेरकर हिरासत में ले लिया गया।

बीजेपी बना रही है तख्तापलट की योजना’
टीएमसी के नेता डेरेन ओ ब्रायन ने कहा, ‘बीजेपी संवैधानिक तख्तापलट की योजना बना रही है? कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर के घर को 40 सीबीआई अफसरों ने घेर रखा है। संस्थानों का विनाश बिना किसी रोकटोक के चल रहा है। सोमवार को हम संसद में अपनी मांग उठाने जा रहे हैं। मोदी सरकार जा रही है। लोकतंत्र को बचाने के लिए सभी विपक्षी दलों को आगे आने होगा।’