लौटाऊंगा कश्मीर के ‘अच्छे दिन’: प्रधानमंत्री मोदी

0
150

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि दूसरों के सपनों को मारना सबसे बड़ी कायरता है। पीएम ने छात्रों को संबोधित करते हुए एक कार्यक्रम में कहा कि वह कश्मीर के खुशहाली भरे हरे-भरे दिनों को वापस लौटाने के लिए कृत संकल्पित हैं। कश्मीर में देशभर के छात्रों से रूबरू होते हुए हुए पीएम ने कहा, ‘वह सबसे बड़ा कायर है जो दूसरों के सपनों को मारता है।

यहां कश्मीर में निहत्थे और निर्दोष युवा आतंकवाद का शिकार बन रहे हैं। हमने सर्जिकल स्ट्राइक कर दुनिया को दिखा दिया कि भारत अब चुप बैठने वाला नहीं है। मैं आतंकवाद की कमर तोड़कर रख दूंगा। खुशहाली के दिनों वाले हरे-भरे कश्मीर के पुराने दिन वापस लौटाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।’

पीएम ने कहा, ‘आज जब मैं श्रीनगर आया हूं तब मैं शहीद नजीर अहमद वानी सहित उन सैकड़ों वीरों को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं, जिन्होंने शांति के लिए, राष्ट्र की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है।

शहीद वानी जैसे युवा ही, जम्मू कश्मीर और देश के हर नौजवान को देश के लिए जीने और देश के लिए समर्पित होने का रास्ता दिखाते हैं। शहीद नजीर अहमद वानी को उनके इसी अदम्य साहस और वीरता के लिए कृतज्ञ राष्ट्र ने अशोक चक्र से सम्मानित किया है।’

‘डिजिटल क्रांति का हिस्सा है आधार’
डिजिटल इंडिया पर सवालों का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आधार कार्ड डिजिटल क्रांति का ही हिस्सा है। जब मैं कहता हूं कि हमारे पास 120 करोड़ लोगों का डिजिटल डेटा है तो दुनिया को बड़ा आश्चर्य होता है।

टेक्नॉलजी के माध्यम से तकरीबन 2.5 करोड़ छात्रों से संवाद के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रयासों पर पीएम मोदी ने कहा, ‘कौशल विकास के क्षेत्र में हमारी सरकार बेहतर प्रयास कर रही है। 4.5 साल के हमारे कार्यकाल में जितना भी काम हमने किया है, उससे संतुष्ट हूं।’

‘सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था है भारत’
देश के लोगों पर डिजिटलीकरण के असर पर पीएम ने कहा, ‘मानव लगातार विकास करता रहा है। पिछले 40-50 सालों में टेक्नॉलजी ने बहुत लंबी छलांग लगाई है। डिजिटलीकरण की मदद से ट्रांसपेरेंसी बढ़ी है, एजुकेशन की फील्ड में क्वॉलिटी आई है। रिपोर्ट्स के अनुसार भारत, दुनिया में सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था है। भारत में तेज गति से गरीबी कम हो रही है। मिडल क्लास की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

‘ठान लें तो होंगे गरीबी से मुक्त’
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘देश में संसाधनों की कमी नहीं है। एक पीएम ने कहा था कि एक रुपया निकलता है तो 15 पैसा पहुंचता है। अब यह स्थिति है कि एक रुपये का पूरा 100 पैसा मिलता है। मैंने अपील की तो सवा करोड़ लोगों ने गैस पर सब्सिडी छोड़ दी। वहीं लाखों लोगों ने रेलवे टिकट पर सब्सिडी छोड़ दी। इससे बहुत आर्थिक फायदा हुआ।

अगर देश तय कर ले कि हमें गरीबी से मुक्त होना है, तो दुनिया की कोई ताकत हमें गरीब नहीं रख सकती है। हमारे देशवासियों में इतना सामर्थ्य है कि अगर हमारे प्राकृतिक संसाधन और मानव संसाधन का अगर हम सही तरीके से प्लान करके आगे बढ़े तो गरीबी से मुक्ति पाना मुश्किल नहीं है।

मुझे विश्वास है हम जो योजना किसानों के लिए लेकर आए हैं उससे हमारे देश का किसान एक आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ेगा। मैं यह भी देख रहा हूं कि हमारा देश 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन कर रहेगा।’