लिंक्डइन, याहू जैसी साइट्स से 220 करोड़ यूजरनेम-पासवर्ड चोरी

0
85

नई दिल्ली। पिछले कुछ सालों से ऑनलाइन डेटा लीक्स की खबरें अक्सर सुनने को मिल जाती हैं। Facebook, Yahoo और Marriot Hotels के डेटा लीक मामले को लोग अभी भूले नहीं थे कि एक बार फिर से ऐसी ही एक लीक की खबर आ गई है। बताया जा रहा है कि इस लीक में 220 करोड़ ई-मेल और पासवर्ड चोरी हो गए हैं और यह आसानी से ऑनलाइन उपलब्ध भी हैं।

जर्मनी के एक रिसर्च ग्रुप ने इस लीक का खुलासा करते हुए कहा है कि इस डेटा को साइबर क्रिमिनल्स आसानी से ऐक्सेस कर सकते हैं। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के रिसर्चर ट्रॉय हंट ने खुलासा किया था कि 77 करोड़ से ज्यादा अकाउंट्स की जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध है।

जर्मनी के हैस्सो प्लैटनर इस्टीट्यूट ने कहा है कि उन्होंने अकाउंट इन्फर्मेशन वाले चार और बैचेज का पता लगाया है जो क्रमिनल्स आसानी से ऐक्सेस कर सकते हैं। लीक हुए इस डेटा के फाइल की साइज 845जीबी है और यह कई हैकर फोरम के साथ ही टॉरेंट पर भी उपलब्ध है।

बताया जा रहा है कि यह कोई नई डेटा ब्रीच नहीं है। चोरी हुए इस डेटा को लंबे समय से Yahoo, LinkedIn और Dropbox जैसी कंपनियों से जुटाया जा रहा था। बता दें कि लीक हुए डेटा को आमतौर पर डार्क वेब पर बेच दिया जाता है, लेकिन इस मामले में यह टॉरेंट के साथ ही कई अन्य साइटों पर फ्री में उपलब्ध है।

इसका सीधा मतलब यह हुआ कि कोई भी व्यक्ति इसे ऐक्सेस कर सकता है और ऑटोमेटेड तकनीक और यूनिक यूजरनेम व पासवर्ड से अकाउंट को हैक कर सकता है।

ऐसे रहें सुरक्षित
अगर आप अपने अकाउंट की सुरक्षा को चेक करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको https://haveibeenpwned.com वेबसाइट पर जाकर अपनी ईमेल आईडी को एंटर करना होगा। अगर आपको पता चलता है कि आपका यूजरनेम और पासवर्ड हैक हुआ है तो इसे तुरंत बदल दें।