हत्या और लूट के विरोध में कोटा सर्राफा बाजार बंद रहा

0
161

कोटा। ज्वैलर्स के यहां हुई लूटपाट और दोहरे हत्याकांड के विरोध में सर्राफा व स्वर्णकार व्यापारियों ने अपने कारोबार बंद रखे। सभी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने इस घटना को व्यापारियों के लिए असुरक्षित बताते हुए चिंता व्यक्त करते हुए पुलिस प्रशासन से आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की। साथ ही व्यापारियों की सुरक्षा बढ़ाने का निवेदन किया।

श्री सर्राफा बोर्ड,के अध्यक्ष सुरेंद्र गोयल विचित्र ने बताया कि गुरुवार को स्टेशन क्षेत्र में एक सर्राफा व्यापारी के घर पर हुई लूटपाट और जघन्य हत्याकांड के विरोध में एवं शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए शुक्रवार को कोटा के सभी सर्राफा व स्वर्णकार व्यापारियों से जुड़ी हुई संस्थाओं के आह्वान पर कारोबारियों ने अपनी दुकानें बंद रखी।

संस्थाओं में श्री सर्राफा बोर्ड, थोक सर्राफा विक्रेता व्यवसायिक संघ, स्वर्ण रजत कला उत्थान समिति, स्टेशन सर्राफा व्यापार समिति, न्यू कोटा सर्राफा व स्वर्णकार एसोसिएशन, कोटा सर्राफा एसोसिएशन रामपुरा आदि शामिल थे। शुक्रवार को सर्राफा संस्थाओं के पदाधिकारियों सुरेन्द्र गोयल विचित्र, रमेश सोनी, अरुण कोठारी, महेश शर्मा आदि ने अंतिम संस्कार में शामिल होकर श्रृद्धांजलि अर्पित की।

अपराध बढ़ रहे हैं
राजस्थान सर्राफा संघ के प्रदेश मंत्री पुरुषोत्तम पुरोहित ने कहा कि कुछ दिनों से लग रहा है कि सड़कों से जैसे पुलिस गायब ही हो गई है। इसके चलते शहर में अपराध बढ़ते जा रहे हैं। रात 8 बजे ही सघन बस्ती में किसी हत्या करने 24 घंटे के बाद भी अपराधी पकड़ में नहीं आए हैं। इससे सर्राफा व्यापारियों व उनके परिवार में भय है।

व्यापार महासंघ का समर्थन
कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी ने स्टेशन क्षेत्र में सर्राफा व्यापारी की पत्नि एवं पुत्री की हत्या व लूट की घटना की कड़े शब्दों में निन्दा की है। उन्होनें पुलिस प्रशासन से 48 घंटे में इस घटना का पर्दापाश करने की मांग की। साथ ही चेतावनी दी है कि वरना कोटा व्यापार महासंघ आन्दोलनात्मक कदम उठायेगा। उन्होंने इस घटना के विरोध में सर्राफा व्यापारियों द्वारा आज किये गये व्यापार बन्द का भी पूर्ण समर्थन किया है।