हंगामेदार हो सकता है आज से शुरू होने वाला बजट सत्र

0
37

नई दिल्ली। 16वीं लोकसभा अपने कार्यकाल की समाप्ति की ओर पहुंच रही है। आज से शुरू होने वाला संसद का बजट सत्र मोदी सरकार का आखिरी संसद सत्र होगा। राष्ट्रपति के अभिभाषण से शुरू होने वाला आखिरी सत्र 13 फरवरी तक चलेगा। 1 फरवरी को मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया जाएगा। लोकसभा चुनाव से पहले होने वाले इस आखिरी संसद सत्र के काफी हंगामेदार रहने की संभावना है।

जहां एक ओर सरकार का अजेंडा अपने अंतरिम बजट को पास कराना रहेगा, वहीं उनकी प्राथमिकता अपने महत्वाकांक्षी बिल तीन तलाक और नागरिकता संशोधन बिल पास कराना रहेगी। दरअसल, चुनाव से ठीक पहले होने वाले सत्र में लोकसभा चुनाव की छाया दिखेगी। सरकार और विपक्ष दोनों की कोशिश होगी कि अपने-अपने अजेंडे जोरदार तरीके से देश के सामने रख सकें।

चर्चा है कि इस बजट में किसानों और मध्यम वर्ग को ध्यान में रखते हुए सरकार कुछ अहम घोषणाएं कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, इसमें आयकर छूट की सीमा बढ़ाने, गरीबों के लिये न्यूनतम आय योजना और किसानों के लिए सहायता पैकेज सहित कई तरह की लोक लुभावन घोषणाएं की जा सकती हैं। हालांकि, बजट सत्र के दौरान मात्र चार महीने के लेखानुदान को ही मंजूरी दी जाएगी। चुनाव के बाद सत्ता में आने वाली नई सरकार ही पूर्ण बजट पेश करेगी।

उल्लेखनीय है कि आखिरी बजट वित्त मंत्रालय का कामकाज देख रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल पेश करेंगे। गौरतलब है कि बजट को लेकर विपक्ष की निगाहें लगी हैं। कांग्रेस किसानों, राफेल, युवाओं में बेरोजगारी जैसे मुद्दों को सत्र में उठाएगी। कांग्रेस ने जिस तरह से अभी से अपना एजेंडा साफ किया है, उसे देखते हुए आज से शुरू हो रहे सत्र के हंगामेदार रहने की पूरी संभावना है। चर्चा यह भी है कि सरकार इस सत्र में राफेल पर कैग की रिपोर्ट को भी संसद में रख सकती है।