Android Q बदल देंगे स्मार्टफोन इस्तेमाल करने का तरीका

0
208

नई दिल्ली । वर्ष 2019 में Google अपना नया एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम पेश करने की तैयारियां कर रही है। Android Q को गूगल के I/O 2019 कांफ्रेंस में पेश किए जाने की संभावना है। I/O 2019 कांफ्रेंस की जानकारी Google के CEO सुंदर पिचाई ने ट्विट कर दी है। सुंदर पिचाई ने ट्विट में बताया है कि Google की अगली I/O डेवलपर कॉन्फ्रेंस 7 मई से 9 मई तक कैलिफोर्निया के Shoreline Amphitheater में आयोजित की जाएगी।

हालांकि, इस ट्विट में इस बात की जानकारी नहीं दी गई है कि इस दौरान Android Q पेश किया जाएगा या नहीं। अगर यह एंड्रॉइड वर्जन लॉन्च किया जाता है तो यूजर्स को इस वर्जन के तहत क्या बदलाव मिल सकते हैं इसकी जानकारी हम आपको यहां दे रहे हैं।

फोल्डेबल फोन सपोर्ट:Android Q का सपोर्ट नेटिव फोल्डेबल फोन में आने की काफी संभावना है। इसे एक इवेंट के दौरान एंड्रॉइड के इंजीनियरिंग के वाइस प्रेसिडेंट डेविड ब्रूक द्वारा पिछले वर्ष शोकेस किया गया था। यह इवेंट उसी दौरान आयोजित किया गया था जब सैमसंग ने अपना पहला फोल्डेबल डिस्प्ले वाला फोन पेश किया था। नेटिव सपोर्ट का मतलब फोल्डेबल स्मार्टफोन्स में मौजूद एंड्रॉइड ऐप्स का एक क्लीन और स्मूद लेआउट है।

डार्क मोड:सिस्टम-वाइड डार्क मोड एक ऐसा फीचर है जिसे अभी तक आधिकारिक तौर पर पेश तो नहीं किया गया है लेकिन Google पिछले काफी समय से इस फीचर के बारे में संकेत दे रहा है। Google ने वर्ष 2018 में डार्क मोड को कुछ ऐप्स में पेश किया था। ऐसे में माना जा रहा है कि इस मोड को जल्द ही सिस्टम लेवल पर भी पेश किया जा सकता है।

PiP मोड:Android Q के तहत यूजर्स को एनहैंस्ड PiP मोड दिया जाएगा। जिस तरह सैमसंग के फोन्स में कई ऐप्स को एक साथ छोटी स्क्रीन कर चलाया जा सकता है, ठीक उसी तरह का फीचर दूसरे फोन्स में Android Q के साथ दिय जाएगा। इससे एक साथ कई ऐप्स काम कर पाएंगी।

फेशियल रिक्गनिशन के लिए नेटिव सपोर्ट:2018 में हमने कई स्मार्टफोन ऐसे देखे हैं जो फेशियल रिक्गनिशन के साथ पेश किए गए हैं। इस सपोर्ट के लिए किसी भी फोन के इंटरफेस में काफी बदलाव करना पड़ता है। ऐसे में नेटिव सपोर्ट के तहत स्मार्टफोन्स में फेशियल रिक्गनिशन का सपोर्ट देने आसान हो जाएगा। इससे ज्यादा से ज्यादा फोन में फेशियल रिक्गनिशन फीचर दिया जा सकेगा।

ज्यादा परमीशन:Android Q के फ्रेमवर्क में XDA डेवलपर्स ने कुछ नई परमीशन्स का पता लगाया है। इसका मतलब किसी भी ऐप को क्लिपबोर्ड एक्सेस करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम परमीशन मांगेगा। यह इस समय मुमकिन नहीं है। क्योंकि अभी हर ऐप क्लिपबोर्ड को एक्सेस दे देती है।

किसी भी ऐप को डाउनग्रेड करने का सपोर्ट:Android Q फ्रेमवर्क में XDA डेवलपर्स के मुताबिक, यूजर किसी भी ऐप को डाउनग्रेड कर पाएगा। यह अभी भी किया जा सकता है लेकिन सिर्फ Google की अपनी ऐप्स के साथ।