सिक्के बने समस्या, रिटेल व्यापारियों के पास जमा, बैंक भी लेने को तैयार नहीं

0
286

कोटा। शहर के व्यापारियों के पास करोड़ों रुपये के सिक्के जमा हो गए हैं। थोक व्यापारी भी इन सिक्को को लेने से मना कर देते हैं, जिससे उनके व्यापार का क्रम एवं लेन-देन जाम हो गया है। बैंको में जमा कराने जाते हैं तो वहां भी सिक्के जमा करने से मना कर दिया जाता है । ऐसे में कारोबार करना मुश्किल हो रहा है।

कोटा व्यापार महासंघ की क्षेत्रिय व्यापार संघों की बैठक में शिवपुरा हनुमान नगर व्यापारी समिति के अध्यक्ष घीसा सिंह चौहान ने बताया कि क्षेत्र के छोटे-छोटे व्यापारियों के पास अधिक मात्रा में 1,2,5 के सिक्के आते हैं, जिन्हें थोक व्यापारी लेने से मना कर देते हैं। जिससे इन दुकानदारों के पास लाखों-करोड़ों रुपये के सिक्के इकट्ठे हो गये हैं।

बैठक में शिवपुरा हनुमान नगर व्यापारी समिति के सचिव दिनेश गौतम ने क्षेत्र की सड़कों की दुर्दशा, शौचालयों की कमी से अवगत कराया। बैठक में कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रान्ति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी ने कहा कि पूरे शहर के क्षेत्रीय व्यापार संघों द्वारा यह समस्या बताई जा रही है। व्यापारियों के पास इन सिक्कों के माध्यम से लाखों रुपये जमा हैं। जिनसे उनके व्यापार पर भी बुरा असर पड़ रहा है।

महासंघ के अध्यक्ष जैन एवं महासचिव माहेश्वरी ने बैठक में मौजूद कोटा दक्षिण क्षेत्र के विद्यायक से इस समस्या का शीघ्र निजात दिलाने की मांग की। इस पर विधायक संदीप शर्मा ने क्षेत्र के समुचित विकास एवं समस्याओं का निराकरण कराने के लिये सभी व्यापारियों को आश्वस्त किया ।

बैंठक में वार्ड पार्षद बादाम बाई ने कहा कि मेरे द्वारा इस क्षेत्र के समुचित विकास एवं मूलभूत सुविधायें उपलब्ध कराने के निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं, लेकिन बार-बार मांग उठाये जाने पर भी नगर निगम सहयोग नहीं कर रहा है।

महासचिव माहेश्वरी ने शहर में हो रही सि़क्कों की अधिकता को लेकर कलेक्टर से मांग की है कि वह बैंको के अधिकारियों के साथ बैठक कर शहर के व्यापारियों को इस समस्या से निजात दिलाये। किसी भी बैंक को यह अधिकार नहीं, कि वह भारतीय मुद्रा को लेने से मना करे।