टाटा पॉवर को झटका, 67% कमी के साथ 205 करोड़ रह गया मुनाफा

0
516

नई दिल्ली। टाटा पावर (Tata Power) का दिसंबर, 2018 में समाप्त क्वार्टर के दौरान कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 67.42 फीसदी घटकर 204.61 करोड़ रुपए रह गया। वहीं बीते साल समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 628.16 करोड़ रुपए रहा था। प्रॉफिट में कमी की मुख्य वजह फ्यूल और बॉरोइंग कॉस्ट में बढ़ोतरी रही। कंपनी ने बीएसई में दी गई फाइलिंग में यह जानकारी दी।

कुल इनकम रही 7721 करोड़ रु
टाटा पावर (Tata Power) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष यानी 2018-19 की तीसरी तिमाही के दौरान कंपनी की कुल इनकम 7,721.52 करोड़ रुपए रही, जबकि एक साल पहले समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 6,451.31 करोड़ रुपए रहा था।

फ्यूल और फाइनेंस कॉस्ट से लगा झटका
अक्टूबर-दिसंबर, 2018 के दौरान कंपनी की फ्यूल कॉस्ट बढ़कर 3,189.87 करोड़ रुपए रही थी, जबकि एक साल पहले समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 2,491.24 करोड़ रुपए रहा था। इसी प्रकार फाइनेंस कॉस्ट एक साल पहले की समान अवधि के 855.28 करोड़ रुपए से बढ़कर 1,013.96 करोड़ रुपए हो गई। कंपनी ने कहा कि दिसंबर, 2017 में समाप्त क्वार्टर के दौरान 628.16 करोड़ रुपए के प्रॉफिट की मुख्य वजह वन टाइम एक्सेप्शनल आय रही थी।

9 महीने में 22537 करोड़ रु हुई इनकम
अप्रैल-सितंबर, 2018 तिमाही के दौरान कंपनी का नेट प्रॉफिट 2,333.09 करोड़ रुपए रहा था, जबकि एक साल पहले समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 1,246.52 करोड़ रुपए रहा था। वित्त वर्ष के शुरुआती 9 महीने के दौरान भी कंपनी की कुल इनकम 22,537.78 करोड़ रुपए रही, बकि एक साल पहले समान अवधि में यह 19,991.94 करोड़ रुपए रही थी।