HPCL की बाड़मेर रिफाइनरी के लिये वित्तीय संसाधन जुटाने का काम पूरा

0
107

नयी दिल्ली।हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने कहा है कि उसकी बाड़मेर रिफानइरी परियोजना के लिये कज की व्यवस्था कर ली गई है। राजस्थान के बाड़मेर जिले में प्रस्तावित इस परियोजना की कुल अनुमानित लागत 43,129 करोड़ रुपये है। कंपनी की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार भारतीय स्टेट बैंक सहित कर्जदाताओं के एक समूह के साथ 28,753 करोड़ रुपये का कर्ज मिलने की व्यवस्था हुई है।

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) की अनुषंगी एचपीसीएल ने भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व में नौ बैंकों के समूह के साथ रिण समझौता किया है। कंपनी ने कहा है, ‘‘समूह में 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी के साथ स्टेट बैंक लीड कर्जदाता बैंक होगा।’’ यह देश के सबसे बड़े रिणदाता समूहों में से एक होगा।

बाड़मेर रिफाइनरी परियोजना में एचपीसीएल की 74 प्रतिशत भागीदारी होगी जबकि शेषराजस्थान सरकार के पास होगी। इसकी अनुमानित लागत 43,129 करोड़ रुपये होगी। परियोजना लागत का दो- तिहाई हिस्सा कर्ज से पूरा किया जायेगा जबकि शेष राशि प्रवर्तक इक्विटी के जरिये जुटायेंगे।

रिफाइनरी की वार्षिक क्षमता 90 लाख टन वार्षिक होगी और इसके साथ ही 20 लाख टन सालाना की पेट्रोरसायन इकाई इसमें होगी। परियोजना के लिये रिण जुटाने का काम एसबीआई कैपिटल को दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जनवरी 2018 को परियोजना की शुरुआत की थी। परियोजना 2022- 23 तक पूरी की जानी है।