नारकोटिक्स विभाग का एडिशनल कमिश्नर एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा

0
114

कोटा। एसीबी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शनिवार को नारकोटिक्स विभाग के एडिशनल कमिश्नर सहीराम मीणा को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। एसीबी टीम सहीराम के घर और ऑफिस की सघन जांच में जुटी हुई है। कार्रवाई से नारकोटिक्स विभाग में हड़कम्प मच गया।

एसीबी महानिदेशक जयपुर के निर्देशन में चल रही कार्रवाई में कोटा एसीबी के एडिशनल एसपी ठाकुर चंद्रशील के नेतृत्व में टीम ने नारकोटिक्स कॉलोनी स्थित सहीराम मीणा के आवास पर छापा मार एक लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। मीणा के घर से एक लाख रुपए के अलावा चार लाख रुपए और बरामद किए हैं। एसीबी अब मीणा के कोटा और जयपुर स्थित आवासों पर भी तलाशी में जुट गई है।

5 लाख की मांगी थी रिश्वत
एसीबी अधिकारियों के अनुसार चित्तौड़ जिले के कनेरा गांव निवासी कमलेश के पिता से अफीम पट्टे का मुखिया बनाने की एवज में नारकोटिक्स एडिशनल कमिश्नर सहीराम मीणा ने पांच लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। इस पर फरियादी ने कोटा एसीबी को शिकायत दी। इसके बाद एसीबी ने सत्यापन करवाया।

जिसमें शिकायत सही मिलने पर शनिवार को कार्रवाई करते हुए सहीराम मीणा को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। कोटा एसीबी के एडिशनल एसपी ठाकुर चंद्रशील ने बताया कि आरोपी सहीराम मीणा काफी दिनों से सर्विलांस पर था और उसकी गतिविधियां संदिग्ध थी। काफी दिनों से इसकी शिकायत मिल रही थी।

जयपुर में है आलीशान बंगला
एसीबी अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक जांच में आरोपी सहीराम की 50 करोड़ की सम्पति का पता लगा है। जयपुर में करीब 20 करोड़ की लागत से आलीशान बंगला है और मुंबई में लग्जरी फ्लेट होने की जानकारी भी सामने आई है।