किसानों और छात्रों को कमोडिटी ट्रेडिंग के बारे में जागरुक करेगी NCDEX

0
151

मुंबई। भारत के अग्रणी कृषि कमोडिटी एक्सचेंज नैशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड (NCDEX) और कृषि व्यापार एवं ग्रामीण प्रबंधन के प्रतिष्ठित प्रशिक्षण संस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल मैनेजमेंट आणंद (IRMA) ने एक करार (MOU) पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत किसान उत्पादक संघों (FPOs) व सम्बद्ध संस्थानों को परामर्श देने पर विशेष ज़ोर दिया जाएगा।

यह परामर्श प्रशिक्षण सत्रों, मार्गदर्शन और नेतृत्व विकास के माध्यम से प्रदान किया जाएगा। NCDEX और IRMA के उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल ने कमोडिटी मार्केट पर संयुक्त प्रमाणन कार्यक्रम हेतु विचार विमर्श के लिए बैठक की।

IRMA मार्केट ईकोसिस्टम स्टेकहोल्डरों के प्रशिक्षण व विकास संबंधी आवश्यकताओं के लिए मदद करेगा ताकी डेरिवेटिव बाजार पर ज़ोर देते हुए कमोडिटी मार्केट के बारे में जागरुकता फैलाई जा सके।

एक संयुक्त प्रमाणन कार्यक्रम की परिकल्पना की गई जिसमें IRMA के विद्यार्थी कमोडिटी मार्केट के बारे में सीख सकें और साथ ही ऐग्रो सोर्सिंग पेशेवरों को ट्रेनिंग दी जाए, सरकारी अधिकारियों के कौशल को अपग्रेड किया जाए, सहायक जागरुकता कार्यक्रमों एवं अनुसंधान को बढ़ावा दिया जाए।

इस अवसर पर IRMA के निदेशक प्रो. हितेश भट् ने कहा, “हालांकि किसान उत्पादक संघ की स्थापना के लिए संगठनात्मक प्रोत्साहन मिलता है लेकिन बाद में उन्हें वृद्धि और स्वयं-स्थिरता के लिए सहयोग की आवश्यकता होती है। इस करार से दोनों पक्ष अर्थपूर्ण परिणाम प्राप्त करने के लिए सक्षम होंगे।“

NCDEX के प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय कुमार ने कहा, “यह करार हमारे उन प्रयासों की पुष्टि है जिनके द्वारा हम किसान उत्पादक संघों व किसानों को एक्सचेंज प्लैटफार्म पर लाना चाहते हैं। इससे जाहिर होता है की हमारे निरंतर अभियान ने नतीजे देने शुरु कर दिए हैं।

इस करार से न केवल मौजूदा बाजार प्रतिभागियों को सीखने को मिलेगा बल्कि उन्हें एक मजबूत मंच भी प्राप्त होगा जिससे कृषक समुदाय व नई प्रतिभाओं को इस उद्योग में शामिल होने में मदद मिलेगी जो की भारतीय कृषि ईकोसिस्टम में क्रांति लेकर आएगा।