1 फरवरी से बदल जायगा TV देखने का सिस्टम, जानिए सब कुछ

0
371

नई दिल्ली। क्या आपने अपने पसंदीदा चैनल्स का अपना पैक तैयार कर लिया है? या आपको 1 फरवरी से लागू होने जा रहे नए सिस्टम की जानकारी नहीं है? टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने सभी केबल और डीटीएच ऑपेटर्स को आदेश दिया है कि ग्राहकों को चैनल चुनने की आजादी दी जाए। ग्राहकों को 31 जनवरी तक चैनलों का चुनाव करना है। यहां हम आपको नए टैरिफ सिस्टम के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

  1. ब्रॉडकास्टर को प्रत्येक चैनल की कीमत (GST सहित) की घोषणा करनी है।
  2. डिस्ट्रीब्यूटर 100 चैनल के स्लॉट के लिए 130 रुपये+GST प्रति महीने चार्ज करेंगे।
  3. केवल फ्री टु एयर चैनल देखने वाले ग्राहकों से रेंटल के अलावा कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
  4. 100 बेस चैनल की गिनती में एक HD चैनल दो SD चैनल के बराबर माना जाएगा।

अभी मौजूदा स्थिति क्या है?
भारत में कुल 887 चैनल्स हैं, जिनमें 550 फ्री टु एयर हैं। ग्राहकों को 400-500 चैनल दिए जाते हैं और ऑपरेटर 350 से 600 रुपये प्रति महीने तक चार्ज कर रहे हैं।

क्या है नया सिस्टम?
ट्राई की ओर से कहा गया है कि नए सिस्टम में उपभोक्ताओं पर टीवी चैनल थोपे नहीं जा सकते हैं, बल्कि उन्हें केवल उन्हीं टीवी चैनलों को चुनने की आजादी होगी, जिन्हें वे देखना चाहते हैं और उसी के मुताबिक भुगतान भी करना होगा। सभी चैनल अलग-अलग और बुके के रूप में उपलब्ध होंगे, जिन्हें उपभोक्ता अपनी पसंद के अनुसार चुन सकता है।

नए सिस्टम में कीमत कम होगी?
TRAI सचिव एसके गुप्ता कहते हैं कि लोगों का मासिक खर्च कम हो जाएगा। उन्होंने कहा, ‘एक परिवार 20-40 चैनल्स ही देखता है। चैनल खुद ग्राहकों को चुनना है इसलिए वह ऐसा करते हुए सावधानी बरतेंगे। पिछले कुछ दिनों में 27 ब्रॉडकास्टर्स ने 148 पे चैनल्स की कीमतों में कटौती की है, जबकि 15 बड़े ब्रॉडकास्टर्स ने बुके की कीमत घटा दी है। प्रतिस्पर्धा से ग्राहकों को फायदा होगा।’

मुफ्त भी मिलेंगे चैनल?
TRAI ने सभी सेवा प्रदाताओं से कहा है कि ग्राहकों को फ्री टु एयर चैनल पूरी तरह मुफ्त दिखाने होंगे। इनके लिए उपभोक्ताओं से कोई शुल्क नहीं लिया जा सकता है। यह उपभोक्ता पर निर्भर करता है कि वह किस-किस चैनल को चुनता है। दूरदर्शन के सभी चैनल दिखाना अनिवार्य है।

कैसे चुनेंगे चैनल?
सभी केबल और डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर्स से कहा गया कि वे उपभोक्ताओं को वेबसाइट के जरिए चैनल चुनने और ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा उपलब्ध कराएं। वेबसाइट पर चैनलों की लिस्ट कीमत के साथ उपलब्ध होगी। इसके अलावा कॉल सेंटर के जरिए भी उपभोक्ता चैनल चुन पाएंगे।

यदि 100 से ज्यादा चैनल चाहते हैं?
यदि आप 100 से अधिक चैनल देखना चाहते हैं तो अतिरिक्त 25 चैनल्स के लिए आपको 20 रुपये देने होंगे। कुल अमाउंट पर जीएसटी लगेगा, लेकिन कोई ऑपरेटर अलग से सर्विस चार्ज नहीं वसूल सकता है।

क्या होगा यदि 31 जनवरी से पहले चैनल ना चुनें?
TRAI ने कहा है कि 31 जनवरी तक आप मौजूदा प्लान के तहत टीवी चैनल्स देख सकते हैं, ब्लैकआउट नहीं होगा, लेकिन 1 फरवरी से केबल फ्री टु एयर चैनल्स के साथ बेसिक पैक ही उपलब्ध होगा।

एक्टिवेशन और इंस्टालेशन चार्ज
‘यदि कनेक्शन नया है तो ऑपरेटर 100 रुपये एक्टिवेशन चार्ज ले सकता है। नए कनेक्शन के लिए इंस्टॉलेशन चार्ज 350 रुपये होगा।’
–ऑल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन (AIDCF) के सूत्र