3 रिपोर्ट में भर गई मुकेश अंबानी की झोली, 30 हजार करोड़ बढ़ी RIL की वैल्यू

    0
    122

    नई दिल्ली।बीते कुछ दिनों में 3 रिपोर्ट आने के बाद देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की दौलत खासी बढ़ गई है। दरअसल हाल में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries) अक्टूबर-दिसंबर, 2018 तिमाही के अच्छे रिजल्ट आने के बाद ब्रोकरेज हाउस खासे जोश में आ गए हैं।

    उन्होंने RIL के शेयर के टारगेट में इजाफा कर दिया है। RIL के शेयर को सोमवार को इसका फायदा मिला और शेयर 4 फीसदी तक मजबूत हो गया। इससे देश की सबसे बड़ी कंपनी की मार्केट वैल्यू लगभग 30 हजार करोड़ रुपए बढ़कर 7.80 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई है। पढ़िए कौन सी हैं वे 3 रिपोर्ट, जिनका RIL को फायदा मिला…

    सीएलएसए-बाय रेटिंग
    टारगेट-1500 रुपए

    विदेशी ब्रोकरेज CLSA ने Reliance Industries के शेयर लिए ‘बाय’ रेटिंग बरकरार रखते हुए 1500 रुपए का टारगेट तय किया है। सीएलएसए ने कहा, ‘जियो (Jio) कैलेंडर ईयर 2019 की पहली छमाही में अपनी टावर और फाइबर एसेट को भुनाने के करीब पहुंच सकती है, जिससे कंपनी का 25 अरब डॉलर का कर्ज कम होने की उम्मीद है। इससे कंपनी की बड़ी चिंता दूर होगी। पेटकोक गैसिफिकेशन का काम ट्रैक पर है। इसके साथ ही 2019 में ई-कॉमर्स और ब्रॉडबैंड में नई ग्रोथ देखने को मिलेगी।’

    2.नॉमुरा- बाय रेटिंग
    टारगेट- 1480 रुपए

    एक अन्य फाइनेंशियल और रिसर्च ग्रुप नॉमुरा (Nomura) ने RIL के लिए बाय रेटिंग के साथ 1480 रुपए का टारगेट दिया है। नॉमुरा ने अपनी रिपोर्ट कहा, ‘कमोडिटी कीमतों/मार्जिन में गिरावट के बावजूद RIL के नतीजे अच्छे रहे हैं। भले ही रिफाइनिंग मार्जिन कमजोर रहा है, इसके बावजूद RIL को इंटिग्रेशन का फायदा मिला। पेटकोक गैसिफिकेशन से रिफाइनिंग मार्जिन भी बढ़ने की उम्मीद है।’ नॉमुरा के मुताबिक, नॉन कोर टेलिकॉम एसेट्स का डिमर्जर गेम चेंजर साबित हो सकता है।

    3.सिटी-बाय रेटिंग
    टारगेट-1300 रुपए

    एक अन्य कंपनी सिटी (Citi) ने आरआईएल के लिए बाय कॉल बरकरार रखते हुए 1300 रुपए का टारगेट दिया।

    Q3 में 9 फीसदी बढ़ा प्रॉफिट
    हाल में कंपनी ने अक्टूबर-दिसंबर, 2018 तिमाही के नतीजे जारी किए। इसके मुताबिक 8.8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 10251 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया। ऐसा पहली बार है कि किसी प्राइवेट कंपनी ने एक तिमाही में 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का प्रॉफिट दर्ज किया है। एक साल पहले समान अवधि यानी अक्टूबर-दिसंबर, 2017 के दौरान RIL का प्रॉफिट 9,420 करोड़ रुपए रहा था।

    कंपनी ने कहा कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान कंपनी का रेवेन्यू 56 फीसदी बढ़कर 1,71,336 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया। वहीं बीते साल समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 1,09,905 लाख करोड़ रुपए रहा था।