रिलायंस ऑनलाइन रिटेल कारोबार क्षेत्र में आने को तैयार : मुकेश अंबानी

0
498

गांधीनगर। मुकेश अंबानी नियंत्रित रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ऑनलाइन रिटेल प्लेटफॉर्म को टक्कर देने की तैयारी की है। इसके लिए आरआइएल की सबसे नई कंपनी रिलायंस जियो इंफोकॉम और रिलायंस रिटेल मिलकर एक अनूठा कॉमर्स प्लेटफॉर्म लांच करेंगी। आरआइएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने शुक्रवार वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट, 2019 के दौरान यह जानकारी दी।

अंबानी ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज गुजरात में 12 लाख खुदरा कारोबारियों और दुकानदारों के लिए अपना ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म लांच करेगी। इसके बाद इसका दायरा अखिल भारतीय स्तर पर बढ़ाया जाएगा।

एशिया की सबसे अमीर हस्ती मुकेश अंबानी जियो टेलीकॉम सर्विस, मोबाइल डिवाइसेज और अपने विशाल रिटेल नेटवर्क को मिलाकर खुदरा कारोबार के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों के साथ स्पर्धा में उतरना चाहते हैं।

अंबानी ने कहा, ‘गुजरात के 12 लाख छोटे खुदरा कारोबारियों और दुकानदारों को सशक्त और समृृद्घ बनाने के लिए जियो और रिलायंस रिटेल एक अनूठा कॉमर्स प्लेटफॉर्म लांच करेंगी।’ रिलायंस इंडस्ट्रीज के ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने का मतलब है अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों से सीधी टक्कर।

अमेजन अमेरिकी कंपनी है और फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण भी अमेरिका की ही वालमार्ट ने कर लिया है। रिटेल सेक्टर में दुनिया की सबसे बड़ी ये दोनों कंपनियां भारत में पहले से कड़ी स्पर्धा में हैं। इस कारोबार में रिलायंस इंडस्ट्रीज के उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय हो जाएगा।

विदेशी कंपनियों को दिक्कत पिछले महीने सरकार ने ऑनलाइन रिटेल के नियम कड़े कर दिए हैं। अब विदेशी स्वामित्व वाली ऑनलाइन रिटेल कंपनियां वैसी कंपनियों के प्रोडक्ट्स नहीं बेच पाएंगी, जिनमें उनकी इक्विटी हिस्सेदारी है।

इसके अलावा वे अपने प्लेटफॉर्म पर कंपनियों को एक्सक्लूसिव बिक्री को भी प्रोत्साहित नहीं कर पाएंगी। इन नियमों की वजह से अमेजन और वालमार्ट, दोनों कंपनियों के कारोबार को नुकसान पहुंचने की आशंका है, लेकिन रिलायंस जैसी स्थानीय कंपनियों को फायदा होगा।