इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी सिस्टम के पहले चरण में 202 रेलवे स्टेशन शामिल

0
587

कोटा। एयरपोर्ट की तर्ज पर रेलवे स्टेशनों में विकसित होने वाले इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी सिस्टम के पहले चरण में शामिल 202 रेलवे स्टेशनों को शामिल किया है। कोटा का नाम दूसरे चरण में शामिल होने की उम्मीद है। इसके तहत स्टेशनों के अवैध एंट्री रास्ते सील होंगे। चैकिंग व्यवस्था चुस्त होगी, सीसीटीवी कैमरे लगेंगे।

सर्कुलेटिंग एरिया में आने वाले वाहन चैक होंगे
रेलवे स्टेशन के बाहर के वाहन चैक किए जाएंगे। सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े व्यक्तियों को अंडर फ्रेम डिटेक्टर मिरर दिए जाएंगे, ताकि वाहन में रखी विस्फोटक या संदिग्ध वस्तु का पता लग सके। साथ ही वाहन सर्कुलेटिंग एरिया में कम आएगा यह भी दर्ज होगा। पायलट प्रोजेक्ट के तहत इलाहाबाद, हुबली स्टेशन पर यह व्यवस्था लागू की जाएगी। पहले चरण में जयपुर, अजमेर, बीकानेर व जोधपुर शामिल हैं।

सिस्टम के तहत होंगे काम
रेलवे प्लेटफार्म पर पहुंचने के लिए लिमिटेड एंट्री गेट होंगे। प्लेटफार्म से बाहर आने के लिए भी सीमित रास्ते होंगे। प्रवेशद्वार पर डोर मेटल डिटेक्टर लगे होंगे। आरपीएफ जवानों को हैंड मेटल डिटेक्टर दिए जाएंगे।

स्कैनर से जांच होगी
जांच एंजेसियों को बैग स्कैनर दिए जाएंगे। जो प्लेटफार्म पर यात्रियों के बैग, अटैचियों की स्केनर से जांच करेंगे, ताकि यात्रियों की आड़ में संदिग्ध व्यक्ति विस्फोटक व अन्य सामग्री नहीं ले जा सकेंगे। यह सिस्टम लागू होने के बाद प्लेटफार्म पर भीड़भाड़ कम होगी।