पांच सत्रों में पहली बार डॉलर के मुकाबले रुपये में 21 पैसे की तेजी

0
49

मुंबई। रुपये में चार कारोबारी सत्रों से चली आ रही गिरावट बृहस्पतिवार को थम गयी। कच्चा तेल की कम कीमत तथा निर्यातकों की डॉलर बिकवाली से रुपया 21 पैसे के सुधार के साथ 71.03 रुपये प्रति डालर पर बंद हुआ।

इसके अलावा खुले बाजार परिचालन के जरिये केन्द्रीय बैंक द्वारा नकदी प्रवाह बढ़ाने तथा विदेशी उधारी के लिए रिजर्व बैंक की नयी नीति का अनावरण करने से रुपये की तेजी को समर्थन प्राप्त हुआ। इस नीति के तहत सभी पात्रता रखने वाले उपक्रमों को आटोमेटिक रूट के तहत विदेशी उधारी की अनुमति होगी तथा क्षेत्रवार बाधाओं को हटाया जायेगा।

अंतर बैंकिंग विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बृहस्पतिवार को रुपया 71.15 रुपये प्रति डॉलर पर मजबूती के साथ खुला तथा आगे कारोबार के दौरान इसमें 70.92 से 71.40 रुपये के दायरे में घट बढ़ हुई। अंतत: रुपया अपने पिछले स्तर के मुकाबले 21 पैसे की तेजी के साथ 71.03 रुपये प्रति डालर पर बंद हुआ। बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे की हानि के साथ 71.24 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

बाजार सूत्रों ने कहा कि इन सबके अलावा कच्चा तेल की कीमतों में गिरावट तथा घरेलू शेयरों में तेजी से भी विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में कारोबारी धारणा की तेजी को समर्थन मिला। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक बृहस्पतिवार को 52.79 अंक यानी 0.15 प्रतिशत की तेजी दर्शाता 36,374.08 अंक पर बंद हुआ।