गीतकार सईद कादरी का सूर्य नगरी से मायानगरी तक का सफर, वीडियो

0
85

-दिनेश माहेश्वरी
कोटा। जोधपुर यानी सूर्य नगरी में जन्मे गीतकार सईद कादरी का मुंबई यानी मायानगरी का सफर कम रोचक नहीं हैं। संघर्ष के दिनों में डायरेक्टर महेश भट्ट के साथ रह चुके हैं। छह वर्ष के लम्बे अंतराल के बाद जब काम नहीं मिला तो वह अपने घर लौट आये पारिवारिक जिम्मेदारियां निभाने। परन्तु किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

महेश भट्ट जब बुलंदियों पर पहुंचे तो कवि शैलेश लोढ़ा की पुस्तक का विमोचन करने जोधपुर आये। इस दौरान उनकी एक बार ऐसी मुलकात हुई कि उन्हें फिर से मायानगरी बुला लिया। गीतकार कादरी का कहना है कि अब तक वह 91फिल्मो और एल्बम के लिए गीत लिख चुके हैं ।

प्रसिद्ध गीतकार कादरी चम्बल इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में पिछले दिनो कोटा आये थे, उन्होंने इस दौरान LEN DEN NEWS के साथ बातचीत में उनके फ़िल्मी सफर का राज खोला। आइये इस वीडियो में जाने उनके फ़िल्मी सफर के बारे में।

उनके लिखे गीत जरा सी दिल में दे जगह–, तू ही मेरी सुबह — आवारापन जैसे गीत लोगों की जुबान पर हैं। बॉलीवुड के जाने-माने प्लेबैक सिंगर शान, तारे आदि उनके गीतों को स्वर दे चुके हैं। उनका कहना है की उनके गीत दो और आने वाली फिल्मों में हैं, जिनके टाइटल अभी तय नहीं हैं। इन दिनों वह सिंगल म्यूजिक एल्बम के लिए भी गीत लिख रहे हैं।