इंजीनियरिंग की सबसे बड़ी परीक्षा JEE Main आज से

0
237

कोटा। जेईई मेन बीई/बीटेक परीक्षा बुधवार से शुरू होगी। मेन एग्जाम चार दिन तक दो-दो शिफ्ट में हाेगा । कुल आठ शिफ्ट में मेन-1 होगा। सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक पहला पेपर होगा। दूसरा पेपर दोपहर 2:30 बजे से शाम 5.30 बजे तक होगा।

वहीं, मंगलवार को हुए बी-आर्क के पेपर में कोटा में सुबह की शिफ्ट में 562 में से 424 व शाम की शिफ्ट में 553 में से 415 स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी। बी-आर्क के लिए देश भर में कुल 1.80 लाख छात्र एनरोल थे। इसमें से 1.04 लाख छात्र व 75 हजार के करीब लड़कियां थीं। अब 9 से 12 जनवरी तक होने वाले मेन के बीटेक के पेपर में कुल 9.29 लाख स्टूडेंट्स बैठेंगे। मेन-2 अप्रैल में होगा।

मेन-1 व 2 को मिलाकर माना जाएगा एक अटेंप्ट
मेन के स्कोर के आधार पर स्टूडेंट्स आईआईटी एंट्रेंस एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई करते हैं। मेन के स्कोर पर ही छात्र को एनआईटी, ट्रिपलआईटी, जीएफटीअाई के साथ ही कुछ राज्यों के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिला मिलता है। इस साल मेन का एग्जाम दो बार होगा।

स्टूडेंट्स दोनों ही एग्जाम में बैठ सकते हैं। जिस एग्जाम में उसके अंक अधिक होंगे, उस एग्जाम के अंकों के आधार पर वह एडवांस्ड क्वालीफाई व एनआईटी सिस्टम के लिए अप्लाई कर सकता है। मेन के दोनों एग्जाम मिलाकर एक अटेंप्ट माना जाएगा।

कोटा में जेईई मेन के बीई और बीटेक के पेपर में 12269 स्टूडेंट्स बैठेंगे। यह 4 दिन तक आठ स्लॉट में दो सेंटर पर परीक्षा देंगे। हालांकि बी-आर्क के पेपर के लिए एक ही सेंटर था। बीटेक का पेपर सत्यऑनलाइन एजुकेशन सेंटर के साथ शिवज्योति कॉन्वेंट रानपुर में भी होगा। परीक्षा से 2 घंटे पहले रिपोर्टिंग करनी होगी

जेईई मेन का पेपर कुल 360 अंकों का होगा। इसमें फिजिक्स, केमेस्ट्री एवं मैथेमेटिक्स के प्रश्न होंगे। साथ ही प्रत्येक विषय से 120-120 अंकों के 30-30 प्रश्न पूछे जाएंगे। कुल 90 प्रश्न होंगे। प्रत्येक सही उत्तर के लिए 4 अंक, जबकि गलत उत्तर के लिए 1 निगेटिव अंक का प्रावधान होगा।

इसलिए है इंजीनियरिंग की सबसे बड़ी परीक्षा

  • 258 शहरों में होगा जेईई मेन
  • 467 सेंटर्स पर होगा पेपर
  • 25 स्टेट कोऑर्डिनेटर
  • 254 सिटी कोऑर्डिनेटर
  • 566 सिटी ऑब्जरवर्स
  • 25 लाख ने दिया मॉक टेस्ट