मजदूरी को लेकर भामाशाह मंडी में कल से पल्लेदारों की हड़ताल

0
27

कोटा।मजदूरी दर 10 प्रतिशत बढ़ाने की मांग पर अडिग भामाशाह मंडी के पल्लेदारों का मंडी समिति, कोटा ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के बीच शनिवार तक कोई समझौता नहीं हो सका। ऐसे में अब मंडी प्रशासन व कोटा ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन ने सोमवार को किसानों से मंडी में उपज बेचने नहीं आने की अपील की है।

वहीं मंडी के व्यापारी दिनभर हम्मालों को समझाने में लगे रहे। लेकिन वे 10 प्रतिशत मजदूरी बढ़ाने की मांग पर अडिग रहे। पल्लेदार एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश ने बताया कि करीब सालभर पहले 10 प्रतिशत मजदूरी बढ़ोतरी दीपावली से बढ़ाने का किसान संगठन, व्यापारियों के बीच मंडी प्रशासन की मध्यस्थता में समझौता हुआ था, लेकिन विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगी होने के कारण मजदूरी नहीं बढ़ाई गई।

अब चुनाव होने के बाद मजदूरी दर 10 प्रतिशत बढ़ाने की मांग को लेकर मंडी प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। साथ ही अवगत कराया कि मजदूरी नहीं बढ़ाई तो सोमवार से हम्माली कार्य बंद रखा जाएगा। शनिवार को मंडी समिति के पूर्व संचालक मनीष बंकट ने भी हम्मालों से समझाइश की, लेकिन हम्माल मांग पर अडिग रहे।

मंडी सचिव मांगीलाल जाटव, कोटा ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष अविनाश राठी ने बताया कि हम्मालों को समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन वे मानने को तैयार ही नहीं है। पल्लेदारों द्वारा दिए गए ज्ञापन के अनुसार सोमवार को मंडी में पल्लेदार मजदूरी नहीं करेंगे। ऐसे में किसानों से अपील की जाती है कि वे जहां तक पल्लेदारों की समस्या हल नहीं हो जाती, वे मंडी में उपज बेचने नहीं आए।