सोच समझ कर बोलें तो उसका असर ज्यादा होगा: डॉ सपना

0
157

कोटा । भाषा और संवाद तकनीकों की बेहतर गुणवत्ता विषय पर आज महावीर नगर स्थित एलबीएस ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स में इंडियन सोसाइटी फ़ॉर ट्रेनिंग एन्ड डेवलपमेंट के कोटा चैप्टर की ओर से शिक्षकों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई ।

आईएसटीडी कोटा चैप्टर के चेयरपर्सन अनीता चौहान ने बताया की कोटा चैप्टर की स्थापना 6 जनवरी 2008 को की गए थी। स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का आयोजन प्रत्येक वर्ष विभिन्न संस्थानों में करवाया जाता है। जिसका आगाज एलबीएसग्रुप के साथ किया गया है।

मुख्य वक्ता नेक्स्ट एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड की अकादमिक एवंज्लिस्ट डॉ सपना अग्रवाल ने कहा कि संवाद से संवरता है सब । हमारे दैनिक जीवन से लेकर प्रोफेशनल भूमिका तक अगर हम भाषा और शब्दों पर ध्यान दें क्या बोलना है ।

समझ कर बोलें तो उसका प्रभाव सबको नजर आएगा । उन्होंने बोलने के साथ साथ पढ़ने, सुनने, लिखने और सोचने पर भी ध्यान देने का सुझाव दिया । सीबीएसई द्वारा निर्देशित लेटेस्ट टेकनीक और ट्रेंड्स को बतलाते हुए सपना अग्रवाल ने टीचर्स के सम्पूर्ण व्यक्तित्व संवर्धन के टिप्स दिए।

आईएसटीडी के पूर्व अध्यक्ष के ऍम टंडन ने बताया की शिक्षको के समय समय पर प्रशिक्षण से लेटेस्ट टेकनीक और ट्रेंड्स का प्रसार करने के लिए आई एस टी डी प्रतिबद्ध है। आईएसटीडी सचिव डॉ राठौर ने बतलाया की चैप्टर के स्थापना दिवस के कार्यक्रम श्रंखला में आयोजित FDP कार्यशाला अन्य कॉलेज और स्कूल में होना प्रस्तावित है।